छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री अचानक पहुंचे थनौद गाँव, पेयजल टंकी निर्माण की स्वीकृति

मुख्य नहर के एक ओर रोड निर्माण कार्य की मंजूरी प्रदान

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज प्रदेशव्यापी लोक सुराज अभियान के दौरान दुर्ग जिले के थनौद गांव के माध्यमिक शाला परिसर में आयोजित समाधान शिविर में अचानक पहुंचे। उन्हांेने शिविर में पहुंचकर अभियान के पहले चरण में ग्रामवासियों से मिले मांगों और शिकायतों के आवेदनों के निराकरण की जानकारी अधिकारियों से ली। डॉ. सिंह ने अंजोरा(ख) में ग्रामवासियों की पेयजल की समस्या केे निदान के लिए 75 लाख रूपए की लागत से नई पानी टंकी निर्माण को मंजूरी दी। इसी तरह उन्होंने थनौद में भी पानी की टंकी बनाने की स्वीकृति दी।

उन्होंने खपरी जलाशय में डेढ़ करोड़ रूपए की लागत से नहर लाईनिंग कार्य, गनियारी जलाशय के खराब गेट की मरम्मत व सीपेज की रोकथाम के लिए 17.50 लाख रूपए, 20 लाख रूपए की लागत से थनौद में अटल समरसता भवन और 10 लाख रूपए की लागत से सीमेंट क्रांक्रीट रोड निर्माण, ग्रामीणों के आवागमन के लिए थनौद और चिंगरी उद्वहन सिंचाई योजना की मुख्य नहर के एक ओर रोड निर्माण कार्य की मंजूरी प्रदान की।

डॉ. रमन ंिसह ने महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत सेक्टर में स्वीकृत सभी कामों को सोमवार तक अनिवार्य रूप से शुरू करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने सामाजिक सुरक्षा पेंशन के लिए प्राप्त आवेदनों की जानकारी लेते हुए ग्रामीणों को बताया कि अप्रैल महीने से प्रदेश के 3 लाख अतिरिक्त पात्र हितग्राहियों को पेंशन मिलना शुरू हो जाएगी। डॉ. सिंह ने कहा कि जिन हितग्राहियों के नाम बीपीएल सूची में शामिल नहीं है।

परन्तु सामाजिक आर्थिक जनगणना शामिल हो, ऐसे हितग्राहियों के साथ-साथ बेघर, पूर्णतः निराश्रित, भिक्षुक, बंधुआ मजदूर, विशेष पिछड़ी जनजाति और मैला धोने का काम करने वाले लोगों को भी पात्रता अनुसार पेंशन मिलेगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य सरकार ने अगले वित्तीय वर्ष से मुख्यमंत्री पेंशन योजना शुरू करने का निर्णय लिया है और वर्ष 2018-19 के बजट में इसके लिए राशि का प्रावधान कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री की इस जानकारी पर ग्रामीणों ने तालियां बजाकर उनका धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू, मुख्य सचिव अजय सिंह, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अमन कुमार सिंह और कलेक्टर दुर्ग उमेश कुमार अग्रवाल सहित अनेक जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने थनौद के शिविर में जिला खाद अधिकारी से शासकीय उचित मूल्य की दुकानों के खुलने, राशन का स्टॉक और राशन का नियमित वितरण के बारे विस्तृत जानकारी ली। जिला खाद अधिकारी ने बताया कि विभाग को अंजोरा (ख) ग्राम पंचायत की राशन दुकान के समय पर नहीं खुलने की दो शिकायतें मिली है। अधिकारियों ने बताया कि इसके लिए दुकानदार को बुलाकर समझाईश दी गई है।

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना और राशन कार्डों तथा पेंशन वितरण की जानकारी लेकर पात्र लोगों को तत्काल लाभान्वित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने थनौद सेक्टर में बंदोबस्त त्रुटि सुधार के लिए कार्ययोजना तैयार कर कार्यवाही के निर्देश अधिकारियों को दिए।

डॉ. रमन सिंह ने श्रम विभाग के अधिकारियों को छूटे सभी श्रमिकों का पंजीयन भी जल्द से जल्द करने और इन श्रमिकों को शासन की विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए आगामी मई माह में 15 तारीख के बाद वृहद श्रमिक सम्मेलन आयोजित करने के निर्देश दिए। उन्होंने शिविर में विद्युत वितरण कम्पनी के अधिकारियों से सौभाग्य योजना के बारे में जानकारी ली और आगामी तीन महीनों में बचे हुए सभी घरों में बिजली कनेक्शन लगाने के निर्देश दिए।

अधिकारियों ने बताया कि जिले में 12 नए विद्युत सब स्टेशन स्वीकृत किए गए थे, इनमें से 8 विद्युत सब स्टेशन बनकर तैयार हो गए हैं, शेष 4 विद्युत सब स्टेशन मई माह तक चालू हो जाएंगे। ग्रामीणों ने शिवनाथ नदी पर बने एनीकट से अवैध रेत खनन की शिकायत को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने गंभीरता से लिया और अधिकारियों को रेत माफिया पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

Summary
Review Date
Reviewed Item
मुख्यमंत्री अचानक पहुंचे थनौद गाँव, पेयजल टंकी निर्माण की स्वीकृति
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *