छत्तीसगढ़

डेंगू से लगातार मौतों के बाद हालात का जायजा लेने पहुंचे चीफ सेक्रेटरी और स्वास्थ्य सचिव

अति संवेदनशील क्षेत्र बन चुका है पटरीपार का 3 किलोमीटर क्षेत्र

रायपुर/भिलाई। भिलाई के खुर्सीपार क्षेत्र में डेंगू से दस मौतों के बाद शुक्रवार दोपहर को छत्तीसगढ़ शासन के चीफ सेक्रेटरी अजय सिंह व प्रदेश की स्वास्थ्य सचिव निहारिका सिंह भिलाई निवास के सामने स्थित हेलीपेड में उतरे। यहां कलेक्टर, दुर्ग, बीएसपी सीईओ एम रवि पहले से ही मौजूद थे। चीफ सेक्रेटरी से जब डेंगू को लेकर हालात के संबंध में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि हालात देखने आया हूं। यह करते हुए वे दुर्ग के लिए रवाना हो गए।

21 वार्डोंं में फैल चुका डेंगू
डेंगू का वायरस अब शहर के 21 वार्डोंं में फैल चुका है। पटरीपार के 3 किलोमीटर का क्षेत्र डेंगू का अति संवेदनशील क्षेत्र बन चुका है। इसमें खुर्सीपार का बालाजी नगर और बापू नगर का क्षेत्र सबसे ज्यादा प्रभावित हैं।

यहीं पर 12 घंटे में चार मौत हुई हैं। इसके अलावा सूर्या विहार में रहने वाले बीएसपी के प्रोजेक्ट को पूरा करने चीन से आए दस लोगों को डेंगू होने पर उपचार के लिए रायपुर में भर्ती कराया गया। सरकारी आंकड़ों में ही सामने आया कि जितने मरीज अस्पतालों से डिस्चार्ज हो रहे हैं उससे कहीं अधिक रोज भर्ती हो रहे हैं। पॉजिटिव मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। गुरुवार तक डेंगू से दस मौतों के बाद निगमायुक्त केएल चौहान ने रोकथाम के कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान डेंगू के फैलने की जानकारी प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी ने धर्मेन्द्र मिश्रा ने दी। आयुक्त ने तत्काल दो पाली में पानी की निकासी, नालियों की सफाई, कचरे का उठाव और दवा का छिड़काव कराने कहा।

ज्यादातर मौत शॉक सिंड्रोम से
डेंगू में अब तक जितनी भी मौत हुई हैं उसमें ज्यादातर शॉक सिंड्रोम के मामले सामने आए हैं। खासकर बच्चों के मामले में एक बार रक्तचाप कम होने के बाद दोबारा सामान्य ही नहीं हो पाया। शहर में डेंगू अब सामान्य से हाईरिस्क तक पहुंच गया है।

jindal