मुख्य सचिव ने पीएमजीएसवाई की सड़कों को प्राथमिकता से पूर्णं करने के दिए निर्देश

अधीक्षण अभियंता सहित दो कार्यपालन अभियंताओं को कारण बताओ नोटिस

जगदलपुर।

मुख्य सचिव अजय सिंह ने बस्तर संभाग में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना तथा लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाए जा रहे सड़क और पुलों के निर्माण कार्य के प्रगति की समीक्षा की। शनिवार को जगदलपुर स्थित जिला कार्यालय के प्रेरणा कक्ष में आयोजित समीक्षा बैठक में अतिरिक्त मुख्य सचिव आरपी मंडल, विशेष पुलिस महानिदेशक संजय पिल्लै, कमिश्नर धनंजय देवांगन, आईजी विवेकानंद सिन्हा सहित बस्तर संभाग के सभी जिलों के कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, वन मंडलाधिकारी, जिला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्य सचिव अजय सिंह ने विधानसभा निर्वाचन का कार्य सफलतापूर्वक निष्पादन करने के लिए सभी अधिकारियों को बधाई दी तथा वर्तमान में विकास कार्यों में तेजी लाए जाने की आवश्यकता बताई, जिससे क्षेत्र के ग्रामीणों को शासन की योजनाओं का लाभ शीघ्रातिशीघ्र उपलब्ध हो।

उन्होंने सभी अधिकारियों को पूरी शक्ति के साथ निर्भिक होकर अपने दायित्वों को पूरा करने को कहा। उन्होंने शासन की योजनाओं को दुरस्थ क्षेत्र के ग्रामीणों तक पहुंचाने के लिए सड़कों और पुल-पुलियों के निर्माण को शीघ्रता से पूर्ण किए जाने पर जोर दिया। उन्होंने इन सड़कों के निर्माण में सभी अधिकारियों को समन्वित रुप से कार्य करने के निर्देश दिए।

उन्होंने लोक निर्माण विभाग द्वारा पल्ली बारसूर मार्ग के निर्माण की धीमी गति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए दंतेवाड़ा के लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता श्री जोसेफ थाॅमस को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

उन्होंने सुकमा जिले में कुछ सड़कों के निर्माण की धीमी गति पर भी नाराजगी जाहिर की और सुकमा जिले के लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता सहित जगदलपुर के अधीक्षण अभियंता को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने अंतागढ़-बेड़मा मार्ग की अत्यंत धीमी गति के कारण कार्य को निरस्त करने को कहा। इसके साथ ही धीमी गति से चल रहे अन्य कार्यों में भी गति लाने के निर्देश दिए।

सड़कों के निर्माण में आ रही समस्याओं की जानकारी लेते हुए इनके निराकरण के संबंध में उन्होंने मार्गदर्शन देते हुए कार्य में तेजी लाने के लिए संसाधन बढ़ाने को कहा। उन्होंने सड़क निर्माण हेतु पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराने के निर्देश भी पुलिस अधीक्षकों को दिए।

प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत संभाग में सड़कों के निर्माण कार्य की प्रगति की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि विगत वर्ष बस्तर संभाग में 90 दिनों के भीतर 1132 किलोमीटर सड़कों के निर्माण का कार्य पूर्ण किया गया, जो लक्ष्य का 134 प्रतिशत है। उन्होंने इस उपलब्धि के लिए सड़क निर्माण कार्य में लगे सभी लोगों की प्रशंसा करते हुए पीएमजीएसवाई की शेष सड़कों का निर्माण प्राथमिकता के साथ पूर्ण करने के निर्देश दिए।

उन्होंने 15 जनवरी तक 351 किलोमीटर सड़कों के निर्माण के साथ ही 15 जनवरी से 31 मार्च के बीच 1606 किलोमीटर सड़कों के निर्माण का कार्य पूर्ण करने का लक्ष्य दिया। उन्होंने सड़क निर्माण के कार्यों में पर्याप्त रुचि लेकर कार्य नहीं करने वाले ठेकेदारों के विरुद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

अतिरिक्त मुख्य सचिव आरपी मंडल ने ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सहित अन्य सुविधाओं की पहुंच के लिए सड़कों की अत्यंत आवश्यकता बताते हुए सड़क निर्माण की गति बढ़ाने की दिशा में सभी संबंधित विभाग के अधिकारियों को समन्वित रुप से कार्य करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर लोक निर्माण विभाग और पीएमजीएसवाई के संभागस्तरीय एवं जिलास्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

advt
Back to top button