मुख्यमंत्री के शत-प्रतिशत सूखा राहत राशि वितरण का दावा गलत,..पूर्व मंत्री ने कहा -मूरा के ही सात हजार से अधिक किसानों को नहीं मिली राशि…

बैंको पर राशि दबाने का आरोप

रायपुर:मुख्यमंत्री के सूखा राहत की राशि के शत प्रतिशत वितरण के दावों को फर्जी ठहराते हुए जोगी कांग्रेस ने सरकार पर जमकर निशाना साधा।पूर्व मंत्री एवं जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के नेता विधान मिश्रा ने आरोप लगाया कि सूखा राहत की राशि बैंको ने दबा दी है।

बैंक इन करोड़ो रूपये से ब्याज कमा रहा है।तो वहीं किसान राशि के लिए दर दर भटक रहे हैं।मूरा में ही मुख्यमंत्री ने सूखा राहत के शत प्रतिशत राशि के वितरण का दावा किया था,लेकिन हकीकत में आज तक मूरा के 7,871 किसानों को सूखा राहत की राशि नहीं मिल पाई है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने लोकसुराज अभियान के दौरान ग्राम मुरा में कहा था कि क्षेत्र के किसानों को सूखा राहत राशि का शत प्रतिशत भुगतान हो चुका है ,लेकिन हकीकत में तिल्दा ब्लाक के सात हजार से अधिक किसानों को अभी तक मुआवजा नहीं मिला।

उन्होंने अपने निवास में प्रेस कॉन्फ्रेंस में सूखा राहत से संबंधित ताजा आंकड़े पेश किए। उन्होंने कहा कि एक और प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह दावा कर रहे किसानों को सूखा राहत का सदुपयोग भगवान हो गए दूसरी तरफ राज्य शासन के ही आंकड़े कुछ और बयां कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में इस प्रकार की शिकायतें मिल रही है मिश्रा ने कहा कि 609 करोड रुपए से बैंकों ने अभी तक करीब 7 करोड़ का ब्याज कमा लिया है मिश्रा ने दावा किया कि प्रदेश में किसानों को सूखा राहत राशि में ही ब्याज खेल हो रहा है

1
Back to top button