छत्तीसगढ़

बालविवाह और बाल भिक्षा वृत्ति रोकने बाल अधिकार संरक्षण आयोग उठाएगा कड़े कदम : प्रभा दुबे

छत्तीसगढ़ राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती प्रभा दुबे दुर्ग में संवेदीकरण कार्यशाला में शामिल हुईं.

बालविवाह और बाल भिक्षा वृत्ति रोकने बाल अधिकार संरक्षण आयोग उठाएगा कड़े कदम : प्रभा दुबे

रायपुर : छत्तीसगढ़ राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती प्रभा दुबे दुर्ग में संवेदीकरण कार्यशाला में शामिल हुईं.

इस कार्यशाला का आयोजन छत्तीसगढ़ राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग द्वारा दुर्ग नगर पालिक निगम के जनप्रतिनिधियों को बाल अधिकारों ,बाल संरक्षण के लिए निर्मित अधिनियमों, बाल हित में हो रहे उल्लेखनीय कार्यों की जानकारी देने के लिए किया गया था.

इस कार्यशाला को संबोधित करते हुए श्रीमती प्रभा दुबे ने कहा कि बाल विवाह और बाल भिक्षा वृत्ति रोकने के लिए बाल अधिकार संरक्षण आयोग आयोग कड़े कदम उठाएगा.

इस बुराई को समाज से दूर करना बहुत जरुरी है . उन्होंने कहा कि बच्चों के हितों की रक्षा और उनके संवर्धन के लिए हम सभी को मिलकर कार्य करना होगा इसके लिए जनप्रतिनिधियों , बाल हित में काम कर रहे संगठनों और संस्थाओं ,नागरिकों और शासकीय तंत्र सभी के सम्मिलित प्रयास आवश्यक हैं .

उन्होंने कार्यशाला में एक नगर स्तरीय बाल संरक्षण समिति के गठन की बात भी कही. कार्यशाला में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती माया बेलचन्दन ने कहा कि बच्चों के हितों के लिए जिला पंचायत दुर्ग भी छत्तीसगढ़ राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोगके साथ कदम से कदम मिलकर चलने को कटिबद्ध है.

इस कार्यशाला में दुर्ग नगर पालिक निगम की महापौर श्रीमती चन्द्रिका चंद्राकर भी उपस्थित थीं उन्होंने नगर निगम के स्तर पर हर आवश्यक सहयोग देने की बात कही .

इस कार्यशाला में एवं देखरेख की आवश्यकता वाले बच्चों के लिए बेहतर कार्य करने के लिए जन प्रतिनिधियों से सुझाव भी आमंत्रित किये गए .

कार्यशाला में शामिल सभी जन प्रतिनिधियों ने दुर्ग शहर में भी सार्वजनिक स्थलों पर बच्चों के मन की बात जानने के लिए गोपनीय सुझाव /शिकायत पेटी रखे जाने की बात पर सभी ने सहमति जताई

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.