छत्तीसगढ़

बच्चे देश के भविष्य हैं, लसकीं सरकार गंभीर नहीं : भगवानु

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश प्रवक्ता भगवानू नायक ने कहा बच्चे देश के भविष्य हैं लेकिन उनके भविष्य को लेकर सरकार गम्भीर नहीं और न ही उनकी चिन्ता है बल्कि छत्तीसगढ़ सहित देश भर में नक्सलियों और आतंकियों से प्रभावित होकर मासूम बच्चों के हाथों में पेन के बजाय गन होने से uno गम्भीर और चिंतित है इसलिए विश्व में शांति और सुरक्षा स्थापित करने और मानव अधिकारों की रक्षा करने वाली संयुक्त राष्ट्र संघ (UNO) ने छत्तीसगढ़ सहित पूरे देश में उनके भविष्य को लेकर नक्सली और आतंकी संगठनों में शामिल होने वाले मासूमों के जिंदगी बचाने सात समंदर पार से uno ने भारत सरकार को सलाह दी है।

जानकारी के अनुसार संघ के महासचिव एंटोनिया गुतारेस ने भारत सरकार से अपील की है कि वह इन आतंकी संगठनों और हिंसा से बच्चों को बचाने तेजी से काम करें। वहीं चिल्ड्रन इन आर्म्ड कॉन्फ्लिक्ट पर अपनी वार्षिक रिपोर्ट में UNO के महासचिव ने हथियार बन्द और सरकार के बीच विशेष रूप से छत्तीसगढ़, झारखंड और जम्मू कश्मीर में उपजे तनाव की घटनाओं से बच्चों को प्रभावित होना बताया है। इसके पूर्व भी 2015 में UNO ने भारत के बच्चों के भविष्य पर चिंता जताई थी।

इस प्रकार UNO के इस सम्बन्ध में रिपोर्ट के बाद भी सरकार का मासूमों के जीवन बचाने कोई ठोस कदम नहीं उठाना देश के भविष्य के साथ खिलवाड़ है और कहीं न कहीं इससे विश्व पटल में भारत की छवि भी धूमिल हो रही है। नायक ने कहा UNO के सलाह और अपील पर सरकार को गम्भीरता पूर्वक विचार करते हुए इस सम्बंध में बच्चों के भविष्य को सुरक्षित करने ठोस नीति बनानी चाहिए अन्यथा आगामी चुनाव में देश की जनता भाजपा को माफ नहीं करेगी.

खबरीलाल रिपोर्ट

Summary
Review Date
Reviewed Item
भगवानु
Author Rating
51star1star1star1star1star

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *