अंतर्राष्ट्रीयराष्ट्रीयहेल्थ

12 साल से अधिक उम्र के बच्चे भी वयस्कों की तरह ही पहने मास्क: WHO

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने नई गाइडलाइन्स को जारी किया

नई दिल्ली: यूनीसेफ की सहयोग से विश्व स्वास्थ्य संगठन ने नई गाइडलाइन्स को जारी किया है। जिसमें कहा गया है कि 12 साल से अधिक आयु के बच्चों को वयस्कों की तरह मास्क पहनना चाहिए। विशेष रूप से तब जब सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन न किया जा सके और उस क्षेत्र में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा हो।

हालांकि, डब्लूएचओ ने यह नहीं बताया है कि बच्चे वायरस को किस सीमा तक फैला सकते हैं। डब्लूएचओ ने यह जरूर कहा है कि 12 साल से अधिक उम्र के बच्चे वयस्कों की तरह ही किसी दूसरे को कोरोना वायरस से संक्रमिक कर सकते हैं। संगठन के कहा है कि कुछ सीमित मात्रा में मिले सबूत बताते हैं कि कम उम्र के बच्चे कोरोना संक्रमण को वयस्कों की तुलना में धीमी गति से फैलाते हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि 5 साल या इससे कम उम्र के बच्चों को मास्क नहीं पहनना चाहिए। वहीं, 6 से 11 साल के उम्र के बच्चे उन जगहों पर मास्क पहने जहां कोरोना वायरस का संक्रमण ज्यादा हो।

इसके अलावा उन जगहों पर भी इस उम्र के बच्चे मास्क पहने जहां वयस्क लोगों के ज्यादा होने की संभावना हो। यह भी सलाह दी गई है कि घर के बड़े सदस्य बच्चों के मास्क पहनने और उसे उतारने के तौर तरीकों पर ध्यान दें।

इसके अलावा डब्लूएचओ ने यह भी कहा बच्चों को खेल खेलते समय या शारीरिक गतिविधियां करते समय मास्क पहनने के लिए नहीं कहा जाना चाहिए। इस दौरान बच्चे दूसरों से उचित दूरी बनाकर रखें और खेल में बच्चों की संख्या को भी सीमित रखा जाए।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button