चीन : विमान एजी600 ने पहली उड़ान भरी

विमान का ढांचा 39.6 मीटर लंबा है और डैने 38.8 मीटर के हैं. एजी 600 की फ्लाइट क्षमताओं ने दक्षिण चीन सागर में चीन की सभी द्वीप-निर्माण परियोजनाओं को रेंज के भीतर रखा था

चीन : विमान एजी600 ने पहली उड़ान भरी

रविवार को चीन में एजी600 ने उड़ान भरी. यह विमान चीन निर्मित है. यह उभयचर विमान की पहली उड़ान थी.

उभयचर यानी पानी और जमीन दोनों से उड़ान भरने में सक्षम विमान एजी600 ने दक्षिण चीन के गुआंगदोंग प्रांत के झुहाई सिटी में जिनवान नागरिक विमानन हवाई अड्डा से उड़ान भरी. इसके बाद यह विमान करीब एक घंटे तक बादलों में ही रहा.

AFP के मुताबिक सरकारी कंपनी एविएशन इंडस्ट्री कॉर्पोरेशन ऑफ चीन ने कहा कि इस विमान का ढांचा 39.6 मीटर लंबा है और डैने 38.8 मीटर के हैं.

सरकार न्यूज एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, ऐसा समझा जाता है कि स्वदेशी तकनीक से विकसित यह दुनिया का सबसे बड़ा उभयचर विमान है.

चीन ने हाल के सालों में विमानन प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में काफी तरक्की की है. एजी 600 की फ्लाइट क्षमताओं ने दक्षिण चीन सागर में चीन की सभी द्वीप-निर्माण परियोजनाओं को रेंज के भीतर रखा था.

विमान के चीफ डिजाइनर हुआंग लिंगकाई ने बताया कि यह विमान एक बार मेंचीन के हेनान प्रांत से मलेशिया के बोरनियो द्वीप तक उडान भर कर 4500 किलोमीटर तक दूरी तय कर सकता हैं.

पारंपरिक हवाई अड्डों के अलावा यह जमीन और पानी में भी उतर सकता है और यहीं से उडान भी भर सकता है. चीन इसे अपने सैन्य आधुनिकीकरण की दिशा में एक बड़ा मील का पत्थर मान रहा है.

Back to top button