दुनियाभर में महामारी फैलाने के बाद मास्क निर्यात कर मोटा मुनाफा कमा रहा चीन

बीजिंग: मध्य चीन के हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान फैले कोरोना ने फरवरी तक हुबेई प्रांत के अन्य हिस्सों को भी चपेट में ले लिया। इसके बाद पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया। ऐसे में मास्क समेत अन्य सुरक्षा उपकरणों की मांग बढ़ गई है। इसी दौरान गुआन शूंजे नामक कंपनी ने मात्र 11 दिन में ही मास्क बनाने वाली एक नई फैक्ट्री खड़ी कर दी।

उत्तर-पूर्वी चीन में पांच इकाइयां स्थापित करने वाली यह कंपनी अब व्यापक पैमाने पर एन-95 मास्क बना रही है, जिसकी दुनियाभर में भारी मांग है। चीनी फैक्ट्री के युवा मालिक ने अपने देश के बाद कोरोना से बुरी तरह प्रभावित इटली को मास्क निर्यात करना शुरू कर दिया।

बिजनेस डाटा प्लेटफार्म तियानयंचा के मुताबिक, भारी मांग को देखते हुए इस साल के पहले दो महीने के भीतर ही चीन में 8,950 कंपनियों ने मास्क बनाने का काम शुरू कर दिया है। प्रत्येक कंपनी 60,000 से 70,000 मास्क प्रतिदिन बना रही है। चीन के सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, इस समय देश में 11.6 करोड़ मास्क का प्रतिदिन उत्पादन हो रहा है। दूसरे देशों से मास्क की भारी मांग है।

चीनी कंपनियां बड़ी संख्या में इटली समेत यूरोपीय देशों और दक्षिण कोरिया मास्क का निर्यात कर रहीं हैं। एक उत्पादक ने बताया कि वह अब तक 10 लाख मास्क इटली भेज चुका है। दूसरे उत्पादक ने बताया कि दक्षिण कोरिया और यूरोप के अन्य देशों से उसके पास मास्क के दो सौ से ज्यादा ऑर्डर पड़े हैं। इसी तरह कई देशों से मास्क बनाने की मशीनों के लिए भारी संख्या में ऑडर आ रहे हैं।

Tags
Back to top button