कोरोना के प्रसार के लिए चीन को दुनियाभर में ठहराया जाना चाहिए जवाबदेह: अमेरिका

दुनिया के कई देश माग रहे ड्रेगन से जवाब

वाशिंगटन: पूरी दुनिया में कोरोना वायरस फैलाने के लिए व्हाइट हाउस के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि चीन को दुनियाभर में कोरोना वायरस के प्रसार के लिए चीन को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए. यह भी आरोप लगाया कि वह निम्न गुणवत्ता के एंटीबॉडी जांच किट का निर्यात करके इस स्थिति से लाभ अर्जित कर रहा है.

पिछले कुछ हफ्तों में, ट्रंप प्रशासन ने चीन के खिलाफ बयानबाजी तेज कर दी है. ट्रंप प्रशासन ने चीन पर गैर-पारदर्शी होने और उसे दुनियाभर में कोरोना वायरस के प्रसार के लिए जिम्मेदार ठहराया है. यह वायरस एक महामारी का रूप लेने से पहले चीन के वुहान शहर में पहली बार सामने आया था.

व्यापार एवं विनिर्माण कार्यालय के निदेशक तथा राष्ट्रीय रक्षा उत्पादन अधिनियम के नीति समन्वयक पीटर नवारो ने ‘फॉक्स न्यूज’ से कहा, ‘‘चीन ने वायरस को छह सप्ताह तक छिपाया. वे इसे वुहान में काबू कर सकते थे. उन्होंने नहीं किया. उन्होंने दुनिया भर में इसे फैलाया. सैकड़ों चीनी मिलान, न्यूयॉर्क और अन्य स्थानों के लिए विमानों में सवार हुए.’’

उन्होंने कहा, “उस छह सप्ताह की अवधि के दौरान, उन्होंने दुनिया भर में व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण और मास्क जैसे बचावों की कमी उत्पन्न की जिससे सार्वजनिक स्वास्थ्य कर्मी इनसे वंचित हुए. आज चीन इस स्थिति लाभ उठा रहा है.’’

नवारो, माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स द्वारा की गई उस टिप्पणी को लेकर पूछे गए एक सवाल का जवाब दे रहे थे कि यह समय चीन को इसके लिए दोषी ठहराने का नहीं है.

नवारो ने कहा, ‘‘इसलिए चीन को जवाबदेह ठहराने की जरूरत पर श्रीमान गेट्स और मेरे विचार अलग-अलग हैं. यह निश्चित रूप से एक मामला है क्योंकि चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी ने इस वायरस को दुनिया पर थोपा है. हमें यहां अमेरिका में यह कभी नहीं भूलना चाहिए.’’

Tags
Back to top button