अरुणाचल में चीन का कोई खनन कार्य नहीं – सरकार

नई दिल्ली: सरकार ने वीरवार को कहा कि चीन अरुणाचल प्रदेश में खनन का कोई काम नहीं कर रहा था। सरकार ने साथ ही कहा कि यह सीमावर्ती राज्य भारत का ‘अभिन्न’ और ‘अविभाज्य’ हिस्सा है। राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में विदेश मामलों के राज्य मंत्री वी के सिंह ने यह भी कहा कि सरकार भारत की सुरक्षा पर असर डालने वाले सभी घटनाक्रमों पर लगातार नजर रखती है।

उन्होंने कहा, “भारत के अरुणाचल प्रदेश राज्य के क्षेत्र में चीन द्वारा ऐसी कोई गतिविधि (खनन की) नहीं की गई है।” उनका लिखित उत्तर इस सवाल पर आया कि क्या सरकार अरुणाचल प्रदेश के अंदर चीन द्वारा बड़े पैमाने पर खनन कार्यों के बारे में जागरूक है। मई में एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया था कि चीन ने अरुणाचल प्रदेश के साथ सीमा के किनारे बड़े पैमाने पर खनन शुरू कर दिया हैं, जहां सोने, चांदी और अन्य कीमती खनिजों का एक बड़ा भंडार पाया गया था।

उन्होंने कहा, “पूर्वी क्षेत्र में, चीन अरुणाचल प्रदेश में लगभग 90,000 वर्ग किलोमीटर भारतीय भूभाग पर अपना दावा करता है। तथ्य यह है कि अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा है जिसे स्पष्ट तौर पर उच्चतम स्तर सहित कई अवसरों पर चीनी पक्ष को स्पष्ट रूप से कहा गया है।”

Back to top button