अमेरिका को चीनी सरकार ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

इंटरनैशनल डेस्कः चीनी कंपनियों पर प्रतिबंध की अमरीकी घोषणा पर कड़ी प्रतिक्रिया करते हुए चीन सरकार ने कहा है कि अगर अमरीकी सरकार व्यापार में आ रही तनातनी को दूर करने में कोई पहल नहीं करती है तो वह भी इस बारे में पूरी तरह मुकाबले के लिए तैयार है।

अपने अधिकारों के लिए लडे़गा चीन
गौरतलब है कि कल अमरीका ने कहा था कि वह चीन से होने वाले आयातों पर प्रतिबंध लगा सकता है और अमरीकी बौद्धिक संपदा के मामले में जब तक चीन कोई कदम नहीं उठाएगा तब तक यह जारी रहेगा। इस पर प्रतिक्रिया करते हुए चीनी वाणिज्य मंत्रालय ने कहा कि वह इस घोषणा से हैरान है और यह बयान दोनों देशों के बीच हाल ही में हुई सहमति के विरोध में है। संवाद समिति शिन्हुआ ने बताया कि चीन सरकार उम्मीद करती है कि अमरीका आवेश में आकर कोई कदम नहीं उठाएगा और अगर उसका यही रूख रहता है तो चीन भी अपने अधिकारों के लिए लडऩे के लिए तैयार है।

व्यावहारिक तरीके से इस संबंध में होगी बातचीत
शिन्हुआ के मुताबिक चीन का हमेशा से यही रूख रहा है कि हम किसी भी तरह का विवाद नहीं चाहते हैं लेकिन हम किसी भी मुकाबले से पीछे हटने वाले भी नहीं है। चीन इस मामले में अमेरिका के साथ व्यावहारिक तरीके से बातचीत करेगा और उम्मीद है कि अमेरिका भी दोनों देशों के बीच जारी संयुक्त वक्तव्य के अनुरूप काम करेगा।Þ चीनी समाचार पत्र‘ द ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक अमरीका इस समय अपने बड़प्पन के मुगालते में जी रहा है लेकिन हम भी उसे बता देना चाहते हैं कि व्यापार समझौते से मुकरने के बाद वह इस खेल में अकेला ही नाचता रह जाएगा।

अमरीका के खेल के लिए चीन भी तैयार
समाचार पत्र के मुताबिक पहले हुए समझौते से अमेरिका के पीछे हटने के बारे में चीन आवश्यक कदम उठाएगा और अगर अमरीका कोई खेल ही खेलना चाहता है तो हम भी इसके लिए तैयार हैं और नतीजा आने तक यह खेल जारी रहेगा। दरअसल अमेरिका का आरोप है कि चीन ने विदेशी कंपनियों पर इस बात के लिए दबाव डाला था कि वे चीनी व्यापारिक कंपनियों को तकनीकी हंस्तातरण करे। लेकिन चीन इससे इनकार कर रहा है और उसका कहना है कि ये आरोप निराधार है और अमेरिका अपने व्यापार को संरक्षण के लिए इस तरह के हथकंडे अपना रहा है।

new jindal advt tree advt
Back to top button