चीन में जनवरी तक बंद होंगी उत्तर कोरिया की कंपनियां

उत्तर कोरिया के मुख्य सहयोगी और बेहतर दोस्त माने जाने वाले चीन ने उसे करारा झटका दिया है। चीन ने देश से उत्तर कोरिया की कंपनियों को जनवरी तक अपना बोरिया बिस्तर समेटने के आदेश दिए हैं।

प्योंगयांग द्वारा छठे परमाणु परीक्षण के बाद चीन ने संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंधों को लागू करते हुए यह फैसला किया है। चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि चीनी कंपनियों के साथ संयुक्त उपक्रम में चल रही कंपनियों सहित उत्तर कोरिया की कंपनियों के पास संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव पास होने से 120 दिनों का समय है।

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र ने 11 सितंबर को प्रस्ताव पास किया था। चीन द्वारा प्रतिबंधों को लागू करने की पुष्टि करने के बाद यह घोषणा की गई है। इसमें उत्तर कोरिया को रिफाइन पेट्रोलियम उत्पाद निर्यात को सीमित करना और 1 अक्टूबर से पड़ोसी देश से कपड़ा आयात बंद करना शामिल है।

गौरतलब है कि उत्तर कोरिया अपना 90 फीसदी व्यापार चीन के साथ करता है। ऐसे में चीन का यह कदम उत्तर कोरिया के लिए काफी नुकसानदेह साबित हो सकता है।

पिछले कुछ समय से अमेरिका चीन पर दबाव बनाता रहा है कि वह अपनी आर्थिक मजबूती का इस्तेमाल कर उत्तर कोरिया की परमाणु महत्वाकांक्षा पर लगाम लगाए।

Back to top button