बिज़नेसराष्ट्रीय

भारत के देसी ट्विटर वर्जन कू से चीनी निवेशक बाहर, आत्मनिर्भर भारत पर है पूरा फोकस

दूसरे निवेशकों ने मौजूद उनकी 9 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने की बात कही

नई दिल्ली:भारत के देसी ट्विटर वर्जन कू ने पिछले 6 महीनों में अपने नाम कई रिकॉर्ड बनाए हैं. कू ने तीन मिलियन ऐप डाउनलोड्स हासिल कर लिए हैं. कू ऐप को MyGov आत्मनिर्भर ऐप चैलेंज का अवार्ड मिल चुका है.

कू ऐसे वक्त में ट्रेंडिंग में आया जब कई मंत्रियों ने इस ऐप के इस्तेमाल के बारे में भारतीय यूजर्स को जानकारी दी. भारत के देसी ट्विटर वर्जन कू से चीनी निवेशक बाहर हो चुका है. दूसरे निवेशकों ने मौजूद उनकी 9 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने की बात कही है.

इस ऐप के बारे में लोगों को जानकारी ऐसे वक्त में मिली जब सरकार और ट्विटर के बीच लगातार विवाद देखने को मिल रहा था. सरकार ने ट्विटर को ये आदेश दिया था कि किसान आंदोलन से जुड़े कुछ फर्जी अकाउंट्स को हमेशा के लिए हटाया जाए जिसपर ट्विटर ने कोई एक्शन नहीं लिया. अंत में सरकार के सख्त रवैये के कारण ट्विटर को कई अकाउंट्स को हमेशा के लिए ब्लॉक करना पड़ा तो वहीं अब यूजर्स ने ट्विटर छोड़ कू का इस्तेमाल शुरू कर दिया है. जिससे ट्विटर बैकफुट पर आ चुका है.

Accel पार्टनर्स, 3वन4 कैपिटल, Kalaari कैपिटल, ब्ल्यूम वेंचर्स और चीनी ग्लोबल वेंचर कैपिटल फर्म Shunwei उन निवेशकों में शामिल है जिन्होंने Bombinate टेक्नोलॉजी में निवेश किया हुआ है. लेकिन अब Shunwei कू ऐप से बाहर हो चुका है.

गूगल प्लेस्टोर पर इसके डाउनलोडेड पेज पर ऐप को ‘बिल्ट फॉर इंडियंस’ बताया गया है. यानी की आप अपनी भाषा में अब अपनी राय शेयर कर सकते हैं. इसका टैगलाइन कनेक्ट विद इंडियंस इन इंडियन लैंग्वेजेज है. ये एक पर्सनल अपडेट और ओपनियन शेयरिंग माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म है.

Koo पर क्या किया जा सकता है?

जो आप ट्विटर पर कर सकते हैं वो सबकुछ आप कू पर भी कर सकते हैं. आप अपनी राय, अपडेट्स और सेलिब्रिटी को भी फॉलो कर सकते हैं. आप इसे अपनी भाषा में देख सकते हैं. ये ऐप ये भी दिखाएगा कि क्या ट्रेंड कर रहा है.

कू ने एक बयान में कहा, ”इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय के कुछ प्रमुख संगठनों ने भारत के अपने माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट कू पर अपने खाते खोले हैं. यह कदम ट्विटर के खिलाफ एक रणनीतिक प्रतिक्रिया है. कैसे करें इस ऐप को डाउनलोड ऐप को गूगल प्लेस्टोर और iOS ऐप स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है. इसे आप वेब पर भी चला सकते हैं. बस इसके लिए आपके पास एक फोन नंबर होना चाहिए क्योंकि कू में लॉगइन करने के लिए आपसे ये ओटीपी पूछेगा.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button