पिछले दस साल से बनी है हिंद महासागर में चीनी नौसेना की उपस्थिति

हर वक्त मौजूद रहते हैं 6-8 नौसेना के जहाज

नई दिल्ली: वर्ष 2008 से लगातार चीनी नौसेना हिंद महासागर में उपस्थिति बनाए हुए हैं, जिसके कारण भारत को हर वक्त 6-8 नौसेना के जहाज मौजूद रखना पड़ता है, जिससे की भारत अपने व्यापार की रक्षा कर सके।

भारतीय नौसेना के चीफ एडमिरल सुनील लांबा ने बताया कि वर्ष 2008 से लगातार चीनी नौसेना हिंद महासागर में उपस्थित है। वह यहां समुद्री लूट से रक्षा के नाम पर चीन की नौसेना की पिछले कई सालों से स्थायी मौजूदगी है।

एडमिरल लांबा ने बताया कि दो साल पहले चीन ने अपना पहला विदेशी अड्डा जिबूती में स्थापित किया। इस नौसेना की तैनाती की लक्ष्य व्यापार की रक्षा करना बताया गया है।

एडमिरल लांबा ने बताया कि चीनी नौसेना ने अपनी क्षमता को बढ़ाने के लिए पिछले पांच साल में 80 नए नौसैनिक जहाज अपने बेड़े में शामिल किए हैं और चीनी नौसेना काफी लंबे समय तक यहां टिकी रहेगी।

एडमिरल लांबा ने कहा कि मुझे इस बात को स्वीकार करना होगा कि इस क्षेत्र में चीनी वायुसेना और नौसेना की गतिविधियां हिंद महासागर में बढ़ गई हैं। हालांकि भारत ने चीन और जापान के साथ समुद्री और हवाई संचार ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया है। लेकिन हम अभी भी रक्षामंत्रियों की यात्रा का इंतजार कर रहे हैं।

1
Back to top button