छत्तीसगढ़बड़ी खबर

चिप्स देगा नए युवाओं को स्वरोजगार का अवसर 

 

 
रायपुर. राजधानी स्थित चिप्स के तत्वाधान में एआईसी अटल इन्क्यूबेशन सेंटर सोसायटी कि स्थापना की गई है. इस सेंटर का मुख्य उद्देश्य राज्य के युवाओं एवं शिक्षण संस्थानों में उद्यम कि भावना को प्रेरित करना हैं. 36 आईएनसी से नवीन उद्यमों को प्रोत्साहन प्रदान किया जायेगा. उद्यमों को एक सफल व्यवसाय तक पहुँचाने तक जो भी दिक्कतें या समस्याए आएँगी. उनका चिप्स के द्वारा निपटारा और सुझाव दिया जायेगा. छत्तीसगढ़ सरकार अपने नवाचार और उद्यमिता नीति में राज्य अंतर्गत कोर इन्क्यूबेटर-कम-एक्सीलिरेटर की स्थापना की ओर अग्रसर है जो कि मुख्यतः आर्थिक विकास एवं रोजगार सृजन करने पर केन्द्रित है । कोर इन्क्यूबेटर-कम-एक्सेलरेटर वह भौतिक और बौद्धिक अधोसंरचना है, जहां पर उद्यमियों को उनके विचारों को आर्थिक उत्पाद बनाने हेतु मार्गदर्शन, प्रशिक्षण और हैंड होल्डिंग दी जाएगी। प्रोटोटाइप शाॅप और सहकर्म स्थान-उद्यमी के प्रथम उत्पाद हेतु आवश्यक फेब्रिकेशन मशीन्स जैसे कि 3 डी प्रिंटर्स , लेजर, कटर, टेस्टिंग सुविधा इत्यादि को साझा उपयोग करने की सुविधा प्रोटोटाइप शाॅप में उपलब्ध कराई जाएगी। इन मशीनों और स्थान का उपयोगी सभी उद्यमी कर सकेंगे। वित्तीय प्रोत्साहन और राज्य समर्थन-कोर इन्क्यूबेटर-सह-एक्सीलरेटर हेतु तीन श्रेणी की निधि बनाई जाएंगी, जिसमें नवाचार निधि, लीप आॅफ फेथ रिवल्विंग निधि  तथा उद्यम पूंजी निधि है। यह निधि सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, राज्य तथा केन्द्र सरकार की योजनाओं और कार्यक्रमों आदि से जुटाई जाएगी।  छत्तीसगढ़ इन्फोटेक प्रमोशन सोसायटी (चिप्स) को नीति के क्रियान्वयन के लिए नोडल एजेंसी के रूप में नियुक्त किया गया है। चिप्स द्वारा प्रथम इन्क्यूबेशन सेंटर का नामकरण 36 आईएनसी  किया है जो कि मार्च 2018 तक पूर्ण प्रचालन में आ जायेगा इस संस्था का पंजीकरण 30.06.17 को छत्तीसगढ़ सोसायटी रजिस्ट्रीकरण अधिनियम 1973 के तहत किया गया है, इसके अतिरिक्त 36 आईएनसी  एक अस्थाई शाखा उद्योग भवन तृतीय तल से संचालित हो रही है जहाँ नवीन उद्यमियों को इन्टरनेट की सुविधा के साथ एक कार्य स्थल प्रदान किया गया है साथ ही साथ समय समय पर उनको उनके व्यवसाय में आने वाली व्यवधानों के लिए समुचित मार्गदर्शन प्रदान किया जाता है हाल में ही 36 आईएनसी  द्वारा दो दिवसीय महिला उद्यमी सम्मलेन का आयोजन किया गया जिसमे छत्तीसगढ़ राज्य की विभिन्न हिस्सों में करीब ५० सक्रिय महिला उद्यमियों ने पूरे उत्साह से हिस्सा लिया जिसमे स्टार्ट उप इंडिया एवं अटल इनोवेशन मिशन की प्रतिनिधि सुश्री नयनी नासा की ओर से स्टार्टअप इंडिया द्वारा नवीन उद्यमियों को प्रदान किये जा रहे सुविधा एवं नियमो की जानकारी प्रदान की गयी जो की सही अर्थों में नवीन उद्यमियों के लिए संजीवनी है उन्होंने बताया कि अटल इनोवेशन मिशन के एक्सपर्ट भी छत्तीसगढ़ के उद्यमियों की हर क्षेत्रों में सहायता तथा मार्गदर्शन के उपलब्ध हैं. 36 आईएनसी को केंद्र शासन से भी सहायता प्राप्त है जनवरी माह में हुए एक प्रशिक्षण कार्यक्रम में स्टार्ट उप इंडिया एवं अटल इनोवेशन मिशन द्वारा छत्तीसगढ़ में नवाचार की दिशा में हो रहे प्रयासों की प्रशंसा की गयी निकट भविष्य में 36 आईएनसी प्रयासों के माध्यम से राज्य को नवाचार के क्षेत्र में पहले पायेदान पर स्थापित कर लेगा
36 आईएनसी में पोषित कुछ नवाचार तथा नवीन उद्यमों के क्षेत्रो की सूची
1.    स्वाथ्य एवं सेवाएँ
2.    इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स
3.    लोजिस्टिक्स
4.    स्मार्ट सिटी
5.    शिक्षा
6.    इलेक्ट्रॉनिक्स</>
Tags
Back to top button