‘चौकीदारी’ का नाटक भाजपा को नहीं बचा पाएगा: मायावती

देवबंदत। लोकसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के बीच हुए गठबंधन के तहत 25 साल बाद पहली बार दोनों दलों की संयुक्त जनसभा के दौरान मायावती और अखिलेश ने भाजपा पर जमकर बरसे। रालोद प्रमुख अजीत सिंह भी लोकसभा चुनाव से पहले देवबंद में पहली संयुक्त रैली में मौजूद रहे।

सपा-बसपा-रालोद की रैली में मायावती ने कहा कि अगर कोई धांधली नहीं हुई तो चुनाव हम जीतेंगे। सपा-बसपा-रालोद की रैली में बसपा प्रमुख मायावती ने कांग्रेस पर बोलते हुए कहा कि उसका शासनकाल गलत नीतियों से भरा था। उन्होंने आगे कहा कि ‘चौकीदारी’ का नाटक भाजपा को नहीं बचा पाएगा। भाजपा पुलवामा मामले का गलत इस्तेमाल कर रही है। मायावती ने लोगों से अपील की है कि जीएसटी और नोटबंदी से से बड़ी संख्या में नौकरियां गईं। इन लोगों को वापसी मत करने दीजिये।

देवबंद रैली में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि पहले चायवाला, अब चौकीदार। नयी सरकार और नया प्रधानमंत्री चुनने का समय आ गया है। वहीं रालोद प्रमुख अजीत सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब लोगो से ‘अच्छे दिन का वादा किया तो वह असल में अपने ‘अच्छे दिन की बात कर रहे थे।

सपा प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने इस संबंध में कहा था, “देवबंद की रैली में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, बसपा मुखिया मायावती और राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) प्रमुख अजीत सिंह मौजूद रहेंगे। आने वाले समय में ऐसी कई रैलियां आयोजित होंगी जिसमें तीनों पार्टियों के नेता एक मंच पर होंगे।

Back to top button