अंतर्राष्ट्रीयराष्ट्रीय

भारत की सीमा में अवैध रूप से घुसने की कोशिश न करें नागरिक: बांग्लादेश

बॉर्डर पर तीन लेवल पर काम करेगा बांग्लादेश

ढाका:भारत-बांग्लादेश सीमा पर सुरक्षा का जिम्मा संभालने वाले Border Guard ने अपने लोगों से कहा कि यदि देश के नागरिक अवैध तरीके से सीमा पार करने से बचेंगे तो इससे बॉर्डर पर होने वाली मौतों में कमी आ सकेगी. बांग्लादेश ने अपने नागरिकों से अपील की है कि वे भारत की सीमा में अवैध रूप से घुसने की कोशिश न करें.

BGB के महानिदेशक मेजर जनरल Md Shafeenul Islam ने कहा कि सरहद पर होने वाली मौतें चिंता का विषय है. इन्हें कम करने के लिए बांग्लादेश को तीन लेवल पर काम करना होगा.

सबसे पहले बांग्लादेश के सीमांत इलाकों में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देना होगा. दूसरा, लोगों को अवैध तरीके से भारत की सीमा में घुसने से रोकना होगा और तीसरा, भारत से राजनयिक बातचीत कर बॉर्डर किलिंग की घटनाओं को कम करना होगा.

BGB ने मनाया स्थापना दिवस समारोह

बता दें कि रविवार को BGB का स्थापना दिवस समारोह था. जिसके लिए ढाका के BGB हेडक्वार्टर समेत देश भर में बटालियन मुख्यालयों में बल का ध्वज फहराया गया. BGB प्रमुख से पहले बांग्लादेश (Bangladesh) के विदेश मंत्री Dr A.K. Abdul Momen भी सरहद पर होने वाली मौतों पर चिंता जता चुके हैं. Dr A.K. Abdul Momen ने दावा किया कि उनकी सरकार बॉर्डर एरिया में किसी भी तरह की आपराधिक गतिविधियों का समर्थन नहीं करती है.

22 से 26 दिसंबर तक गुवाहाटी में डीजी लेवल की बातचीत

BGB चीफ ने कहा कि वे बॉर्डर एरिया में मौतों का आंकड़ा कम करने के लिए भारत के Border Security Force (BSF) के साथ बातचीत करेंगे. दोनों के बीच 22 से 26 दिसंबर तक गुवाहाटी में डीजी लेवल की बातचीत होने वाली है.

BGB ने बयान जारी कर कहा कि इस बैठक में वह सरहद पर निहत्थे बांग्लादेशियों (Bangladesh) पर फायरिंग करने के मामले पर BSF से विरोध भी जताएंगे. बैठक में BSF का नेतृत्व डीजी राकेश अस्थाना करेंगे गुवाहाटी में होने जा रही इस बातचीत में BSF का नेतृत्व डीजी राकेश अस्थाना करेंगे.

दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडल में पीएमओ, गृह और विदेश मंत्रालय के अधिकारी भी शामिल होंगे. इस बैठक में क्रॉस बॉर्डर स्मगलिंग, हथियारों की तस्करी और गैर कानूनी प्रवेश पर बातचीत होगी.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button