छत्तीसगढ़

एक बार फिर नशे के सौदागरों को पकड़ने में सिविल लाइन पुलिस को मिली सफलता

अब तक 20 आरोपी गिरफ्तार

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

बिलासपुर : राज्य में हो रहे नशे के व्यापार के विरुद्ध विभिन्न स्तर पर अभियान चलाए जा रहे हैं तो वही बिलासपुर में भी पुलिस महानिरीक्षक दीपांशु काबरा एवं पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल के मार्ग दर्शन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर उमेश कश्यप एवं नगर पुलिस अधीक्षक सिविल लाईन बिलासपुर आर एन यादव के निर्देशन में जिले में अभियान चलाया जा रही है, वही एक बार फिर तीन आरोपी सिविल लाइन पुलिस के हत्थे चढ़े है।

मामले का खुलासा करते हुए नगर पुलिस अधीक्षक आर.एन यादव व थाना प्रभारी सिविल लाइन सनीप रात्रेे ने बताया कि थाना क्षेत्र अंतर्गत में मादक पदार्थ के खरीदी-बिक्री करने की सूचना मिली,जिसके बाद विधिक प्रवधानों के अंतर्गत सिविल लाईन पुलिस द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुये टीम बनाकर सिविल लाईन क्षेत्र के तालापारा के पास छापामार कार्यवाही कि गई और घेराबंदी कर तीन आरोपियो को हिरासत में लिया गया,वही विधिवत कार्यवाही करते हुये सभी आरोपियों की तलाशी ली गई।

इस दौरान आरोपी अभिषेक सोनी पिता गोपी सोनी निवासी अपोलो रोड लिंगियाडीह के पास से 58 नग कोरेक्स बरामद हुआ है,अमित यादव पिता नंदलाल यादव निवासी टिकारी मस्तूरी के पास से कोरेक्स के 90 शीशियां जब्त हुई है,इसके अलावा तीसरे आरोपी रितिक गेंदले पिता अमर गेंदले निवासी तालापारा के पास 24 नग कोरेक्स की शीशियां मिली हैं,पुलिस ने कुल 172 नग कोरेक्स की शिसियों को बरादम की है।

अब तक 20 आरोपी गिरफ्तार

पत्रकारों को पुलिस अधिकारी ने बताया कि मादक पदार्थों की अवैध खरीदी बिक्री के खिलाफ थाना स्तर पर अलग अलग टीम के माध्यम से कार्रवाई की जा रही है। अब तक 13 प्रकरणों में कुल 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कार्रवाई के दौरान पुलिस ने 16 किलो से अधिक गांजा, 170 ग्राम अफीम समेत नगदी रकम बरामद किए है। पुलिस ने नाइट्रोसोम की 10 टेबलेट और 180 नग सैक्सकाफ सिरप भी बरामद किया है।

उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी सिविल लाईन निरीक्षक शनिप रात्रे उप निरीक्षक संजय बरेठ, उप निरीक्षक मोहन भारद्वाज, प्रआर 505 निर्मल सिंह, जगदीश राठौर,आरक्षक संजीव जांगड़े, सरफराज खान, विकास यादव शामिल रहे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button