स्‍वच्‍छ गंगा कोष से 203.91 करोड़ रूपये मूल्‍य की परियोजनाएं मंजूर

एनएमसीजी अधिकारी और साझेदार स्‍वच्‍छ गंगा कोष में योगदान देने के लिए एक साथ आए

राष्‍ट्रीय स्‍वच्‍छ गंगा मिशन (एनएमसीजी) के अधिकारी और साझेदार आज एक मंच पर एकत्र हुए और उन्‍होंने स्‍वच्‍छ गंगा कोष के लिए स्‍वैच्छिक आधार पर निजी दान दिये।

विभिन्न कार्यान्‍वयन एजेंसियों के अधिकारियों, हितधारकों और भारतीय स्‍टेट बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, इंजीनियर्स इंडिया लिमिटेड, डब्‍ल्‍यूएपीसीओएस, एचडीएफसी आदि सहित टीम एनएमसीजी के साझेदारों ने एनएमजीसी मुख्‍यालय पर आयोजित एक कार्यक्रम में स्‍वच्‍छ गंगा कोष के लिए योगदान दिया।

एनएमसीजी के महानिदेशक राजीव रंजन मिश्र ने सभी साझेदारों और हितधारकों से स्‍वच्‍छ गंगा कोष में योगदान देने और हमारी इस राष्‍ट्रीय नदी को स्‍वच्‍छ बनाने के महान मिशन का हिस्‍सा बनने का अनुरोध किया।
उन्‍होंने कहा, ‘’इस मिशन को बरकरार रखने के लिए जनता तक पहुंच एक प्रमुख कार्यनीति है और इसलिए हम चाहते हैं कि ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग और कॉर्पोरेट्स सीजीएफ में योगदान दें और स्‍वच्‍छ गंगा मिशन में साझेदार बनें। उद्देश्‍य के साथ जुड़ना मौद्रिक योगदान से ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण हैं।

बहुत से कॉर्पोरेट्स आगे आये हैं और हमारे साथ साझेदार के रूप में जुड़े हैं। उद्हारण के लिए एचसीएल ने वनरोपण का कार्य बड़े पैमाने पर उठाया और साथ ही वह इनटेक के साथ मिलकर उत्‍तराखंड में रूद्राक्ष रोपण करने की भी प्रक्रिया में है, इंडोरामा ने घाटों आदि के निर्माण का जिम्‍मा लिया है।

इस कोष में अब तक 269.12 करोड़ रूपये की कुल राशि उपलब्‍ध है, इसमें से 203.91 करोड़ रूपये मूल्‍य की परियोजनाएं पहले ही स्‍वीकार की जा चुकी हैं। स्‍वच्‍छ गंगा कोष की स्‍थापना भारतीय न्‍यास अधिनियम के अंतर्गत न्‍यास के रूप में की गई थी।

आज के कार्यक्रम में स्‍वच्‍छ गंगा कोष के लिए 2, 65, 879/- रूपये की कुल राशि दान की गई। स्‍वच्‍छ गंगा कोष के लिए दान का ऑनलाइन भुगतान www.cleangangafund.com पर लॉग ऑन करके किया जा सकता है। इसके अलावा भीम यूपीआई / पेटीएम ऐप्‍प के माध्‍यम से भी भुगतान किया जा सकता है। स्‍वच्‍छ गंगा कोष की खाता संख्‍या 34213740838 में ‘’ स्‍वच्‍छ गंगा कोष’’ के पक्ष में देय चैक और डिमांड ड्राफ्ट के माध्‍यम से भी दान दिया जा सकता है।

1
Back to top button