स्वच्छता मिशन : PM ने जाग्रति और उनकी साथी महिलाओं से करीब 5 मिनट बात की

रायपुर/दंतेवाड़ा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ‘स्वच्छता ही सेवा मिशन” की शुरुआत की। उन्होंने सुबह 9:30 बजे से दूरदर्शन पर लाइव प्रसारण के द्वारा देश भर के लोगों से स्वच्छता दूत बनने की अपील की। इस दौरान दंतेवाड़ा की जाग्रति कश्यप और उनके साथ स्वच्छता अभियान में जुटी महिलाओं से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीधे बात की और अपने क्षेत्र स्वच्छता के लिए किए गए कामों के बारे में बताया।

इस तरह अपने गांव को बनाया ओडीएफ

प्रधानमंत्री मोदी ने जाग्रति और उनकी साथी महिलाओं से करीब 5 मिनट बात की और स्वच्छता के लिए किए गए उनके कार्यों के बारे में सुना। दंतेवाड़ा जिले के बड़ेतुमनार निवासी जाग्रति कश्यप ने साल 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का देश के नाम एक संदेश सुना था।

इस संदेश में उन्होंने स्वच्छता के महत्व को बताया था। इसी से प्रभावित होकर जाग्रति ने महिलाओं का एक समूह बनाया और अपने गांव को खुले में शौच से मुक्त बनाने की मुहिम शुरू की।

उन्होंने लोगों को घरों में शौचालय बनवाने के लिए प्रेरित किया और उनकी मदद की। इनकी मुहिम रंग लाई और सरकार ने इनके गांव को जल्द ही ओडीएफ घोषित कर दिया। जाग्रति और उनकी सहयोगी महिलाएं गांव में घर-घर जाकर लोगों को स्वच्छता का महत्व बताती हैं।

बच्चों के साथ ही कई सार्वजनिक जगहों पर लोगों ने भी पीएम का संदेश सुना। इससे पहले पीएम मोदी ने समाज के विभिन्न वर्गों के करीब 2000 लोगों को पत्र लिखकर इस सफाई अभियान का हिस्सा बनने के लिए आमंत्रित किया है, ताकि इस अभियान को सफल बनाया जा सके।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि जिन लोगों को आमंत्रित किया गया है। उनमें पूर्व न्यायाधीश, अवकाश प्राप्त अधिकारी, वीरता पुरस्कार के विजेता तथा राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों के पदक विजेता शामिल हैं।

सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों, उप मुख्यमंत्रियों, राज्यपालों और उप राज्यपालों को भी व्यक्तिगत रूप से यह पत्र प्राप्त हुआ है। कुछ प्रमुख धार्मिक नेताओं, फिल्म हस्तियों, खिलाड़ियों, लेखकों, पत्रकारों को भी प्रधानमंत्री तरफ से यह पत्र मिला है।

Tags
Back to top button