क्लाइमेट चेंज एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने की भारत की मदद करने की अपील

देश में कोरोना के 3,46,786 नए मामले आए सामने

नई दिल्ली: भारत में कोरोना महामारी के विकराल रूप को देखते हुए क्लाइमेट चेंज एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने भारत की मदद करने की अपील की है. उन्होंने ग्लोबल कम्यूनिटी से अपील की है कि वह आगे आएं और भारत की मदद करें.

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, “भारत में हाल की घटनाएं दिल तोड़ने वाली हैं. वैश्विक समुदाय को आगे आना चाहिए और भारत की मदद के लिए कुछ कदम उठाने चाहिए.” ग्रेटा थनबर्ग का ये ट्वीट ऐसे समय में सामने आया है जब पिछले कुछ दिनों से देश में तीन लाख से अधिक मामले सामने आ रहे हैं. अस्पतालों में बेड भरे हुए हैं और ऑक्सीजन की भारी किल्लत है.

इस बीच एक नए अध्ययन में अनुमान लगाया गया है कि भारत में कोरोनोवायरस बीमारी के कारण मई के शुरुआत तक इस घातक वायरस से होने वाली रोजाना मौतों का आंकड़ा 5 हजार से ऊपर पहुंच जाएगा. यह अध्ययन वाशिंगटन विश्वविद्यालय में इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ मेट्रिक्स एंड इवैल्यूएशन (IHME) की ओर से किया गया है.

15 अप्रैल को प्रकाशित अध्ययन में कहा गया है कि भारत में 10 मई तक कोरोना से रोजान 5600 मौतें हो सकती हैं और 12 अप्रैल से 1 अगस्त के बीच 329,000 मौतें होने का अनुमान है. साथ ही साथ कोविड से अगस्त तक लगभग 665000 मौतें हो सकती हैं.

देश में कोरोना के 3,46,786 नए मामले आए सामने

देश में एक दिन में कोविड-19 के 3,46,786 नए मामले सामने आने के साथ संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,66,10,481 पर पहुंच गए जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या 25 लाख से अधिक हो गई है. यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दी गई है.

एक दिन में 2,624 संक्रमितों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 1,89,544 हो गई है. देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है और फिलहाल यह आंकड़ा 25,52,940 है जो संक्रमण के कुल मामलों का 15.37 फीसदी है.

संक्रमण से उबरने वाले लोगों की दर और गिर गई है और यह 83.49 फीसदी है. भारत में अब तक 1,38,67,997 लोग संक्रमणमुक्त हो चुके हैं. संक्रमण के कारण मरने वालों की दर भी गिर गई है और यह 1.14 फीसदी है.

देश में कोरोना से मौतें

भारत में कोविड-19 के मामले सात अगस्त को 20 लाख के पार, 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के पार चले गए थे। वहीं, 28 सितंबर को 60 लाख के पार, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख के पार और 19 दिसंबर को एक करोड़ के पार चले गए.

19 अप्रैल को भारत में संक्रमण के मामले 1.50 करोड़ के पार चले गए. देश में अब तक 1,89,544 लोगों की संक्रमण के कारण मौत हुई जिनमें से सबसे ज्यादा 63,252 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई हैं.

14,075 लोगों की मौत कर्नाटक में हुयी जबकि तमिलनाडु में 13,395, दिल्ली में 13,541, पश्चिम बंगाल में 10,825, उत्तर प्रदेश में 10,737, पंजाब में 8,264 और आंध्र प्रदेश में 7,579 लोगों की मौत हुई है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button