एक्सक्लूसिव : क्लिपर28 की खबर पर मुहर : सच साबित हुई सीबीएसई पेपर लीक मामले में जामताड़ा कनेक्शन की बात

एबीवीपी नेता सहित 9 नाबालिग गिरफ्तार

रायपुर/नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड पेपर लीक मामले में क्लिपर28 की खबर पर झारखंड पुलिस ने मुहर लगा दी है। बता दें शुक्रवार को ही क्लिपर ने पेपर लीक मामले में झारखंड के जामताड़ा गिरोह का हाथ होने की खबर चलाई थी, जो सच साबित हुई।

शुक्रवार सीबीएसई का पेपर लीक करने के मामले में झारखंड पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। पुलिस ने इस मामले में राज्य के चतरा जिले से अबतक 15 और पटना से दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मीडिया के सामने दावा किया है सीबीएसई बोर्ड के पेपर पटना से लीक हुए थे। गिरफ्तार लोगों में स्टडी विजन कोचिंग के संचालक और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के संयोजक सतीश पांडेय और उनके सहयोगी पंकज सिंह शामिल हैं।

मोटी रकम लेकर अधिक नंबर दिलाने का करते थे काम : पुलिस दोनों आरोपियों को चतरा ले आई है, जिनके तार दिल्ली में शिक्षा माफियाओं जुड़े बताए जाते हैं। आरोप है कि दोनों सीबीएसई बोर्ड परीक्षा के दौरान छात्रों से मोटी रकम वसूलकर अधिक नंबर दिलाने का काम करते हैं। इस मामले में पुलिस चतरा के सदर थाने में मामला दर्ज कर लिया है।

वहीं जिले के एसपी एबी वारियर ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि प्रश्नपत्र पटना से लीक हुआ है। बाद में यह व्हॉट्सएप के जरिए चतरा जिले में आया। एबीवीपी नेता के अलावा जो आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं उनमें 9 नाबालिग छात्र हैं।

इन आरोपियों को हजारीबाग के बाल सुधार गृह भेजा गया है जबकि एबीवीपी नेता और उनके सहयोगियों को जेल भेज दिया गया है। चतरा एसपी के मुताबिक पेपर कहां से लीक हुआ इसकी जांच की जा रही है। एसपी का दावा है कि आरोपियों ने छात्रों से पैसे लेकर 28 मार्च को होने वाली परीक्षा का पश्नपत्र 27 मार्च को ही व्हॉट्सएप के जरिए उनतक पहुंचा दिया। इसके साथ ही आरोपियों ने परीक्षा के दौरान नकल की व्यवस्था कराने का वादा भी किया।

advt
Back to top button