राष्ट्रीय

भारत बंद: हिंसा के आड़ में ABVP के युवा नेता की हत्या

एससी-एसटी एक्ट में हुए बदलाव के खिलाफ दलित संगठनों का भारत बंद हिंसक हो उठा. अब तक मिली खबर के अनुसार लगभग 14 लोगों के मौत की खबर है | आज भी कई शहरों में डर और खौफ का माहौल बना हुआ है.

एससी-एसटी एक्ट में हुए बदलाव के खिलाफ दलित संगठनों का भारत बंद हिंसक हो उठा. अब तक मिली खबर के अनुसार लगभग 14 लोगों के मौत की खबर है | आज भी कई शहरों में डर और खौफ का माहौल बना हुआ है. आज भी ग्वालियर, भिंड और मुरैना में कर्फ्यू लगा हुआ है. हिंसा के दौरान मुरैना में जिन लोगों की मौत ही उनमें से एक राहुल पाठक भी है.

बताया जा रहा है कि राहुल पाठक की मौत के बाद ही मुरैना में हिंसा भड़की. मृतक युवक के परिजन ने बताया कि राहुल पीजी कॉलेज में एबीवीपी नेता और छात्र संघ सचिव है. कुछ दिन पहले तीन युवकों से क्रिकेट खेलने को लेकर उसका झगड़ा हुआ था.

इससे मुरैना में तनाव और भी बढ़ गया. कई जगह आगजनी की घटना और तोड़फोड़ हुई. बंद की आड़ में प्रदर्शनकारियों ने उपद्रव किया, जबरन दुकानें बंद कराईं बसों-कारों को फोड़ा, जो सामने आया उसे पीट दिया.

परिजनों का आरोप है कि रामू गुर्जर ने आपसी रंजिश के चलते राहुल को गोली मारी. इस मामले में अफवाह यह उड़ी कि उपद्रवियों ने सवर्ण जाति के युवक की गोली मारकर हत्या कर दी.

पांच घंटे तक उपद्रवी हाथ में डंडे लेकर दुकानें बंद कराते रहे. पुलिस ने हालात ठीक कराने के लिए आंसू गैस के गोले भी दागे.

इसके अलावा मुरैना में उपद्रवियों ने सुबह 9 बजे शताब्दी एक्सप्रेस के गुजरने के बाद पटरी उखाड़ दी. इससे रेल यातायात ठप हो गया. शाम 4.30 बजे तक छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस ही ग्वालियर पहुंची. देशभर में 100 से ज्यादा ट्रेनें प्रभावित हुईं.

Summary
Review Date
Reviewed Item
भारत बंद: हिंसा के आड़ में ABVP के युवा नेता की हत्या
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

jindal

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.