छत्तीसगढ़बड़ी खबर

पैरालीगल वालींटियर्स के प्रशिक्षण सत्र का हुआ समापन

पैरालीगल वालींटियर्स के प्रशिक्षण सत्र का हुआ समापन

रायपुर : राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण बिलासपुर के कार्यपालक अध्यक्ष माननीय न्यायमूर्ति प्रीतिंकर दिवांकर के निर्देश पर एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रायपुर के अध्यक्ष नीलम चंद सांखला के मार्गदर्शन में हाल ही में रायपुर, गरियाबंद, एवं राजिम में प्राधिकरण का कार्य करने हेतु 118 पैरालीगल वालींटियर्स का चयन किया गया है। इसी कड़ी में इन सभी पैरालीगल वालींटियर्स को दूसरा विधिक प्रशिक्षण दिया गया।

पैरालीगल वालींटियर्स का यह प्रशिक्षण कार्यक्रम जिला न्यायालय रायपुर में ही आयोजित किया गया है। पैरालीगल वालींटियर्स को दो बेसिक प्रशिक्षण दिए गए। इन दो प्रशिक्षणों के पश्चात अब पैरालीगल वाॅलिटियर्स प्राधिकरण की ओर से विधिक सेवा और सहायता का कार्य करेंगे।

15-16 मई को दो प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए गए। इन प्रशिक्षण कार्यक्रमों में दैनिक जीवन में काम आने वाले विभिन्न विधिक प्रावधानों की जानकारी दी गयी तथा प्राधिकरण के कार्य के संबंध में और प्राधिकरण द्वारा दी जाने वाली विभिन्न विधिक सेवाओं और सहायता की जानकारी दी गयी।

पैरालीगल वालींटियर्स के रूप में कार्य करने हेतु बड़ी संख्या में शिक्षित युवा और सेवानिवृत्त कर्मचारी आगे आए और दो दिन तक चले प्रशिक्षण कार्यक्रम में इन सभी ने अपनी विभिन्न कानूनी जिज्ञासाओं पर सवाल पूछे और विषय विशेषज्ञों के द्वारा इन सवालों के जवाब दिए गए। प्रशिक्षण सत्र के समापन अवसर पर रायपुर के जिला एवं सत्र न्यायाधीश नीलम चंद सांखला, विशेष न्यायाधीश सी.बी.आई. पंकज जैन, प्राधिकरण के सचिव उमेश उपाध्याय, ने चयनित पैरालीगल वालींटियर्स को विभिन्न विधिक प्रावधानों और विधिक सेवा के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।

इस अवसर पर जिला न्यायाधीश सांखला ने पैरालीगल वाॅलिटियर्स को सम्बोधित करते हुए कहा कि, वे समाज में लोगों को कानून और कानूनी प्रक्रिया तथा व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी पहुंचाए और जानकारी पहुंचाने के लिए एन.जे.डी.जी. यानि नेशनल ज्यूडिशियल डेटा ग्रिड वेबसाईट का और ईकोर्ट सर्विसेस एप्लिकेशन का उपयोग करें।

उन्होंने यह भी कहा कि, सभी पैरालीगल वालींटियर्स प्राधिकरण की एक महत्वपूर्ण और जन-जन के बीच में काम करने वाली ईकाई है ओैर यदि पैरालीगल वालींटियर्स के द्वारा मेहनत, लगन और ईमानदारी से कार्य किया जावेगी तो सबके लिए न्याय की प्राप्ति आसानी से संभव हो सकेगी।

Tags
jindal

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.