सीएम ने माना कि बदले की भावना से तबादला हो रहा है – भाजपा

रायपुर। एक मंत्री को पत्र लिखने पर सुकमा के एसपी का तबादला किए जाने पर भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। पार्टी ने दुहराया है कि प्रदेश सरकार प्रशासन को आतंकित कर अपनी मनमानी करना चाहती है।

प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा है कि प्रदेश सरकार जिस तरह पुलिस प्रशासन को प्रताड़ित कर रही है, उससे यह साबित हो रहा है कि प्रदेश सरकार बदलापुर की राजनीति के अपने एजेंडे पर काम कर रही है। रोज-रोज पुलिस अधिकारियों का इस तरह तबादला करके प्रदेश के मुख्यमंत्री यह जाहिर कर रहे हैं कि सरकार चलाने की उनमें समझ नहीं है।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि थोक के भाव किए जा रहे तबादले पर भाजपा के विरोध को मानसिक दीवालियापन बताकर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने दो टूक कहा था कि किए जा रहे तबादले कोई दंड नहीं है। लेकिन सुकमा के एसपी को स्थानांतरित करते हुए सीएम बघेल ने स्वीकार किया है कि मंत्री को पत्र लिखने के कारण दंडस्वरूप सुकमा के एसपी को हटाया गया है। कौशिक ने कहा कि मुख्यमंत्री की यह स्वीकारोक्ति इस बात की परिचायक है कि पुलिस प्रशासन के साथ-साथ अन्य विभागों में तबादले दंडस्वरूप ही किए गए हैं।

घरघोड़ा के थाना प्रभारी का इस्तीफा प्रदेश सरकार के इसी अपमानजनक रवैए को रेखांकित करता है, जिसे सीएम बघेल के सिपहसालार झुठलाकर भ्रम फैला रहे हैं। कौशिक ने पूछा कि ‘एसआईटी-एसआईटी‘ और ‘कमेटी-कमेटी‘ खेल रहे मुख्यमंत्री क्या अब ‘तबादला-तबादला‘ खेलने लगे हैं? प्रदेश की जनता से छलावा, राजनीतिक विरोधियों की चरित्र-हत्या और बदलापुर के लिए प्रशासन को आतंकित करना ही बघेल-सरकार की अब तक की उपलब्धि रही है।

Back to top button