आमसभा में मुख्यमंत्री ने किया ऐलान : किसानों को रबी फसलों के लिए मिलेगा पानी

-लगभग 1464 करोड़ के 270 निर्माण कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन

रायपुर।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेशव्यापी अटल विकास यात्रा के दौरान धमतरी जिले के भखारा में आयोजित विशाल आमसभा में प्रदेश के किसानों को रबी फसलों के लिए पानी देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इस बार मानसून के दौरान प्रदेश में अब तक अच्छी बारिश हुई है और सिंचाई जलाशयों में पर्याप्त जल भराव हो गया है।

इसे देखते हुए राज्य किसानों को रबी फसलों की सिंचाई के लिए पानी दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि खरीफ विपणन वर्ष 2018-19 के लिए राज्य की सहकारी समितियों में धान खरीदी एक नवम्बर से शुरू होगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस वर्ष धान के समर्थन मूल्य में 200 रूपए की ऐतिहासिक वृद्धि की है।

इससे छत्तीसगढ़ के किसानों को भी इस बार सामान्य धान के लिए 1750 रूपए और ए-ग्रेड धान के लिए 1770 रूपए प्रति क्विंटल का समर्थन मूल्य मिलेगा। इसमें राज्य सरकार 300 रूपए प्रति क्विंटल की दर से बोनस भी देगी। इस प्रकार किसानों को प्रति क्विंटल 2000 रूपए की राशि मिलेगी ।

मुख्यमंत्री ने कहा-इस खरीफ सीजन में धान बेचने पर लगभग चौदह हजार करोड़ रूपए की एक बड़ी धन राशि किसानों के घर पहुंचेगी। इससे उनके जीवन में और भी ज्यादा खुशहाली आएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार खेती पर आधारित खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों को भी बढ़ावा देने का हर संभव प्रयास कर रही है, ताकि हमारे किसानों को कृषि उपजों के लिए अच्छा बाजार मिल सके और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मंशा के अनुरूप उनकी आमदनी वर्ष 2022 तक दोगुनी हो सके।

मुख्यमंत्री ने कहा-इसी कड़ी में धमतरी जिले के कुरूद विकासखण्ड स्थित बंजारी-बगौद में लगभग 170 एकड़ के रकबे में फूडपार्क विकसित किया गया है। मुख्यमंत्री ने आमसभा में इस फूड पार्क का भी लोकार्पण किया। इसका निर्माण छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम (सीएसआईडीसी) द्वारा करीब 45 करोड़ रूपए की लागत से किया गया है।

मुख्यमंत्री ने इसे मिलाकर आज की आम सभा में धमतरी जिले को एक हजार 464 करोड़ रूपए के 270 निर्माण कार्यों की सौगात दी। इनमें से उन्होंने लगभग 457 करोड़ रूपए के 83 पूर्ण हो चुके निर्माण कार्यों का लोकार्पण और एक हजार 07 करोड़ रूपए के 187 नये स्वीकृत निर्माण कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास किया।

डॉ. सिंह ने आम सभा में विभिन्न शासकीय योजनाओं के तहत 429 हितग्राहियों को लगभग दो करोड़ 90 लाख रूपए की सामग्री और सहायता राशि का भी वितरण किया। उन्होंने भखारा उप तहसील को पूर्ण तहसील का दर्जा देने और कुरूद में पॉलिटेक्निक कॉलेज जल्द शुरू करने की भी घोषणा की।

डॉ. रमन सिंह ने जिन कार्यों का भूमिपूजन किया, उनमें लगभग 287 करोड़ 44 लाख रूपए की लागत से टिकरापारा-सेजबहार-भखारा-धमतरी-कुरूद तक बनने वाली 57.32 किलोमीटर लम्बी सड़क, लगभग 282 करोड़ 39 लाख रूपए की लागत से नयापारा-मगरलोड-मोहंदी-भोयना तक बनने वाली 66.72 किलोमीटर लम्बी सड़क, लगभग 162 करोड़ 29 लाख रूपए की लागत से कल्ले-हंचलपुर-कुर्रा-आमदी तक बनने वाली 37.80 किलोमीटर लम्बी सड़क, लगभग 126 करोड़ 50 लाख रूपए की लागत से कुरूद-मगरलोड-पाण्डुका तक बनने वाली 36.24 किलोमीटर लम्बी सड़क, लगभग 36 करोड़ 54 लाख रूपए की लागत से करेली बड़ी-नारी मार्ग पर महानदी पर बनने वाला उच्च स्तरीय पुल शामिल हैं।

मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें 187 करोड़ 58 लाख रूपए की लागत से आरंग-नयापार-कुरूद तक निर्मित सड़क, 52 करोड़ 84 लाख रूपए की लागत से नगरी में और 52 करोड़ 73 लाख रूपए की लागत से ग्राम सिहाद (भखारा) में निर्मित 132/33 केव्ही अति उच्चदाब विद्युत उपकेन्द्र, 45 करोड़ रूपए की लागत से बंजारी-बगौद में लगभग 68.74 हेक्टेयर क्षेत्र में स्थापित फूड पार्क, 40 करोड़ 85 लाख रूपए की लागत से महानदी मुख्य नहर वितरक शाखा में लाइनिंग कार्य, 21 करोड़ 32 लाख रूपए की लागत से कुरूद में स्थापित नगर आवर्धन जल प्रदाय योजना, 13 करोड़ 79 लाख रूपए की लागत से भखारा-भठेली नगर आवर्धन जल प्रदाय योजना और 11 करोड़ रूपए की लागत से कुरूद मंडी क्षेत्र नेशनल हाईवे से चर्रा रोड तक केनाल पर सड़क सह पुलिया निर्माण कार्य भी शामिल हैं।

डॉ. सिंह ने इस अवसर पर प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत 200 हितग्राहियों को रसोई गैस कनेक्शन, प्रधानमंत्री आवास योजना के 70 हितग्राहियों को आवास पूर्णता प्रमाण पत्र, 40 हितग्राहियों को ई-रिक्शा, 25 मछुआरों को आईस बॉक्स और मछुआ सहकारी समितियों को नाव-जाल के लिए सहायता राशि, 20 श्रमिकों को टिफिन, 20 हितग्राहियों को सहज बिजली बिल योजना के प्रमाण पत्र, 15 हितग्राहियों को विवाहन प्रोत्साहन राशि, ट्रायसिकल और बैसाखी तथा संचार क्रांति योजना के अंतर्गत स्मार्ट फोन वितरित किए। उन्होंने कहा कि विकास यात्रा के दौरान तेंदूपत्ता संग्राहकों को 750 करोड रुपए का बोनस दिया जा रहा है ।

इस अवसर पर पर्यटन, संस्कृति और सहकारिता मंत्री दयालदास बघेल, पंचायत और ग्रामीण विकास तथा स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा मंत्री अजय चंद्राकर, महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री रमशीला साहू, लोकसभा सांसद चंदूलाल साहू और छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम (सीएसआईडीसी) के अध्यक्ष छगनलाल मूंदड़ा सहित विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी, जिले के अनेक वरिष्ठजन प्रतिनिधि और हजारों की संख्या में किसान, मजदूर तथा आम नागरिक उपस्थित थे। आमसभा को पंचायत मंत्री अजय चंद्राकर और लोकसभा सांसद चंदूलाल साहू ने भी सम्बोधित किया।

Back to top button