छत्तीसगढ़

फोन टेपिंग मामले में सीएम बघेल ने बनाई तीन सदस्यीय समिति

एक माह में तथ्यों के साथ प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगी समिति

रायपुर:छत्तीसगढ़ में व्हाट्सएप के ज़रिए फ़ोन टेपिंग और संबंधित कंपनी एनएसओ मामले में गंभीरता लेते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तीन सदस्यीय समिति बनाई जो एक माह में तथ्यों के साथ प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगी।

दरअसल बीते दिनों यह खबरें आईं कि व्हाट्सएप के ज़रिए इज़राइली कंपनी एनएसओ ग्रुप ने पेगासस सॉफ़्टवेयर के ज़रिए देश में कुछ चुनिंदा लोगों की जासूसी की और उनके फ़ोन टेप किए गए। खबरों में यह कहा गया कि इनमें छत्तीसगढ़ के भी कुछ लोगों की फ़ोन टेपिंग हुई।

कुछ मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया कि छत्तीसगढ़ पुलिस के सामने इज़राइल कंपनी ने अपने सॉफ़्टवेयर का प्रदर्शन किया था। राज्य सरकार ने इस प्रस्ताव पर आगे क्या किया यह स्पष्ट नहीं है।

इस मसले के सामने आने के बाद CM भूपेश बघेल ने प्रमुख सचिव गृह की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति गठित की है, इस समिति में तारण सिन्हा संचालक जनसंपर्क, और आईजी रायपुर शामिल हैं। समिति मसले की संपूर्ण जाँच करेगी और तथ्यात्मक विवरण के साथ एक महिने के भीतर रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस समूचे मामले की जाँच के आदेश देते हुए कहा है- “ऐसी शिकायतें गंभीर प्रकृति की है,क्योंकि ये नागरिकों की स्वतंत्रता की हनन से जुड़ा प्रश्न है। इन शिकायतों की जाँच कराया जाना आवश्यक है।”

Tags
Back to top button