छत्तीसगढ़

पूर्व मुख्यमंत्री के ट्वीट पर पूछे गए सवाल पर भड़क गए सीएम बघेल

बीएसएनएल से कर्मचारियों को निकाले जाने के सवाल पर केंद्र पर निशाना

रायपुर: बीएसएनएल(भारत संचार निगम लिमिटेड) से कर्मचारियों को निकाले जाने के सवाल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि पूरे देश में यही स्थिति है. यही बात नौजवानों की समझने की आवश्यकता है. राष्ट्रवाद से देश नहीं चलने वाला. जो रोजगार दे सके महंगाई कम कर सके मंदी के दौर से उबर सके. सरकार ऐसी होनी चाहिए.

वहीं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के ट्वीट पर पूछे गए सवाल पर भड़कते हुए गुस्से में पत्रकारों से पूछा कि हैं कौन वो?, क्या हैं वो. क्या वो विधायक दल के नेता हैं? प्रदेश अध्यक्ष हैं? विधानसभा में पार्टी के सचेतक हैं? कौन हैं वो? उनकी पार्टी वाले ही उन्हें नहीं पूछ रहे.

भाजपा में बिखराव पर बोले मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि भाजपा में अनुशासन की बात करते थे. उनकी पार्टी में ही बिखराव की स्थिति है. पार्टी में जान से मारने की धमकी दी जाती है. भाजपा का चाल चरित्र चेहरा उजागर हो गया है.

बीजेपी की बैठक में को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि अलग-अलग राजनीतिक दल है. अपने कार्यक्रम करेंगे करना चाहिए. उनसे यही निवेदन करना चाहूंगा. भगवान उन्हें सद्बुद्धि दे और किसानों के साथ खड़े हों.

उन्होंने कहा कि जब मनमोहन सिंह की सरकार थी तब वह राज्यों को बोनस देने के लिए रोके नहीं बल्कि यूपीए सरकार ने खुद बोनस दिया है, जबकि नरेंद्र मोदी की सरकार ने न खुद बोनस दे रही हैं और जो राज्य बोनस देना चाहता उसमें रोक लगा रहे हैं. रमन सिंह की सरकार थी उसी समय यह प्रतिबंध लगा. वह पत्र भी दबा दिए थे और धान खरीदना भी कम कर दिए थे.

Tags
Back to top button