सीएम बघेल ने बोरियाखुर्द स्थित गोकुल नगर में गायों की पूजा-अर्चना की

गायों को चारा-खिचड़ी खिलाया और नवनिर्मित गौठान का किया लोकार्पण

रायपुर:छत्तीसगढ़ में दीवाली का असल उजास और उमंग गांवों में दिखता है। लक्ष्मी पूजा के अगले दिन गौरा-गौरी पूजन और गोवर्धन पूजा ग्रामीणजनों के लिए अथाह उल्लास का क्षण होता है।

वहीं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गोवर्धन पूजा और गौठान दिवस के अवसर पर राजधानी के बोरियाखुर्द स्थित गोकुल नगर में गायों की पूजा-अर्चना कर गायों को चारा-खिचड़ी खिलाया और नवनिर्मित गौठान का लोकार्पण किया।

उन्होंने कहा कि गोवर्धन पूजा मनाने की परम्परा पूरे देश में है। हम इसे गौठान दिवस के रूप में मना रहे है। एक तरफ गोवर्धन पूजा और गौठान दिवस मनाने की छत्तीसगढ़ की परम्परा और दूसरी तरफ सरकार की नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी योजना। इस योजना के तहत पधुधन विकास एवं संवर्धन के साथ ही नदी-नालों का संवर्धन किया जा रहा है।

नरवा विकास से पेयजल, सिंचाई एवं उद्योगों को पानी की व्यवस्था सुनिश्चित होगी। मुख्यमंत्री ने गोकुल नगर गौठान परिसर में गोबर गैस प्लांट लगाने और रायपुर नगर निगम क्षेत्र में दो और गौठानों की घोषणा की।

सस्ते में घरेलू रसोई गैस की आपूर्ति

उन्होंने कहा कि गोबर गैस प्लांट से आसपास के लोगों को सस्ते में घरेलू रसोई गैस की आपूर्ति होगी। उन्होंने गौठान के गोबर से वर्मी खाद निर्मित होगी और इससे आय का साधन भी निर्मित होगा।

उन्होंने कहा कि गौठान में मवेशियों के लिए शेड तो बने है इससे बारिस के मौसम में उन्हें छाया मिलेगी लेकिन गर्मी के मौसम में गर्मी से मवेशियों को बचाव के लिए छायादार वृ़क्ष लगाने को कहा। इस गौठान का निर्माण 50 लाख रूपए की लागत से की गई है। यहां 500 मवेशियों को व्यवस्थित रखा जा सकता है।

इस अवसर पर नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा छत्तीसगढ़ की संस्कृति को पहचान दिलाने का काम किया जा रहा है। उन्होंने किसानों को आर्थिक रूप से समृद्ध करने के लिए अनेक कार्य किए हैं।

किसानों की समृद्धि से प्रदेश भी समृद्ध होगा। कार्यक्रम को विधायक सत्यनारायण शर्मा और महापौर प्रमोद दुबे ने भी सम्बोधित किया। लोकार्पण समारोह में विधायक कुलदीप जुनेजा एवं विकास उपाध्याय, नगर निगम आयुक्त शिव अनंत तायल सहित अनेक जनप्रतिनिधि और गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Back to top button