CM भूपेश बघेल ने राज्योत्सव स्थल पहुंचकर किसान आभार सम्मेलन का जायजा लिया

राहुल गांधी मुख्य अतिथि के रूप में कार्यक्रम में शामिल होंगे

रायपुर।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अटल नगर (नया रायपुर) में 28 जनवरी सोमवार को आयोजित किसान आभार सम्मेलन का जायजा लिया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि लोकसभा सांसद राहुल गांधी होंगे।

कार्यक्रम स्थल के अवलोकन अवसर पर राज्यसभा सांसद पी.एल. पुनिया, नगरीय प्रशासन मंत्री शिव कुमार डहरिया, स्कूल शिक्षा मंत्री डाॅ. प्रेमसाय सिंह, नगर निगम के महापौर प्रमोद दुबे, विधायक अमरजीत भगत, पूर्व सांसद करूणा शुक्ला, मुख्य सचिव सुनील कुमार कुजूर, पुलिस महानिदेशक डी.एम. अवस्थी, मुख्यमंत्री के सचिव गौरव द्विवेदी सहित कमिश्नर, कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक तथा कार्यक्रम के तैयारी से जुड़े अधिकारीगण उपस्थित थे।

किसानों का किया कर्जा माफ और धान का समर्थन मूल्य बढ़ाया

उल्लेखनीय है कि राज्य के नये मुख्यमंत्री के रूप में श्री भूपेश बघेल ने पदभार ग्रहण करने उपरांत दो घंटे के भीतर ही पहली केबिनेट बैठक में किसानों के हित में दो बड़े निर्णय लिए। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राहुल गांधी ने राज्य के किसानों से वादा किया था कि सरकार बनने के दस दिनों के भीतर किसानों का कर्जा माफ कर दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने केबिनेट सहयोगियों टी.एस. सिंहदेव और श्री ताम्रध्वज साहू के साथ केबिनेट बैठक में इस वादा को पूरा करने के लिए का निर्णय लिया। इससे राज्य के किसानों की आर्थिक तथा सामाजिक उन्नयन तथा सशक्तिकरण में मदद मिलेगी। इसी तरह राहुल गांधी द्वारा राज्य के किसानों से किये गये वादा को पूरा करने की दृष्टि से पहली केबिनेट बैठक ने किसानों के हित में धान खरीदी की दर बढ़ाकर 2500 रूपए प्रति क्विंटल का भी निर्णय लिया।

इसी तरह 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री ने किसानों की लगभग 15 वर्षो से लम्बित सिंचाई कर की बकाया राशि को मिलाकर अक्टूबर 2018 तक सिंचाई कर की 207 करोड़ रूपए की बकाया राशि भी माफ करने की घोषणा की। राज्य शासन के इन निर्णयों से किसानों में अपार उत्साह, हर्ष और उल्लास व्याप्त हुआ है।

उल्लेखनीय है कि किसानों की 30 नवम्बर 2018 पर बकाया अल्पकालीन कृषि ऋण माफी के निर्णय का क्रियान्वयन दस दिनों के भीतर प्रारंभ कर दिया गया है। ऋण माफी योजना के पहले चरण में एक नवम्बर 2018 से 24 दिसम्बर 2018 तक लिकिंग के माध्यम से राज्य की 1276 सहकारी समितियों के तीन लाख 57 हजार किसानों से वसूल की गयी, 1248 करोड़ अल्पकालीन कृषि ऋण की राशि किसानों के बचत खातों में वापस करने का कार्य किया जा चुका है।

यह राशि किसानों के खातों में आनलाइन हस्तांतरित कर दी गयी है। राज्य शासन द्वारा इसी तारत्मय में कृषि ऋण माफी योजना के अंतर्गत 16 लाख 81 हजार किसानों के 6230 करोड़ रूपए की ऋण माफी की शुरूआत आज 28 जनवरी 2019 से की जा रही है। उल्लेखनीय है कि यह छत्तीसगढ़ इतिहास की सबसे बड़ी ऋण माफी योजना है।

1
Back to top button