छत्तीसगढ़राज्यराष्ट्रीय

छत्तीसगढ़ के वीर शहीद गणेश राम कुंजाम के पार्थिव शरीर को CM भूपेश ने दिया कांधा

दी भावभीनी श्रद्धांजलि

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज राजधानी रायपुर के माना स्थित स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट पर छत्तीसगढ़ के माटी पुत्र शहीद जवान गणेश राम कुंजाम के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी।

मुख्यमंत्री ने शहीद कुंजाम के पार्थिव शरीर को कांधा देकर विदाई दी। शहीद का पार्थिव शरीर अंतिम संस्कार के लिए उनके गृह ग्राम गिधाली कांकेर के लिए रवाना किया गया।

ज्ञातव्य है कि लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एल.ए.सी.) पर चीनी सेना के साथ हुई हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए।

इस हिंसक झड़प में छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले की कुरूटोला ग्राम पंचायत के ग्राम गिधाली निवासी गणेश राम कुंजाम भी शहीद हो गए। शहीद कुंजाम का पार्थिव शरीर आज अपरान्ह विशेष विमान द्वारा रायपुर पहुंचा।

मुख्यमंत्री बघेल ने लद्दाख में शहीद हुए जवानों के अदम्य साहस और बलिदान को नमन किया और शहीदों के परिजनों के प्रति शोक संवेदनाएं व्यक्त की।

भावभीनी श्रद्धांजलि

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वर्गीय कुंजाम ने देश के लिए शहादत दी है। ऐसे महान सपूत पर हम छत्तीसगढ़वासियों को गर्व है। उनकी शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। हम सब देश के साथ है, सेना के साथ है और जवानों के साथ है।

मुख्यमंत्री ने शहीद स्वर्गीय गणेश राम कुंजाम की स्मृति को अक्षुण्य बनाए रखने के लिए गांव की शाला का नामकरण उनके नाम पर करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहीद कुंजाम के परिवार के एक सदस्य को शासकीय नौकरी दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर शहीद स्वर्गीय कुंजाम के पिता इतवारू राम कुंजाम को छत्तीसगढ़ शासन की ओर से 20 लाख रूपए की अनुग्रह राशि का चेक सौंपा।

इस अवसर पर गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, खाद्य मंत्री अमरजीत भगत, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ शिवकुमार डहरिया, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह टेकाम, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह, विधायक सर्व सत्यनारायण शर्मा, बृजमोहन अग्रवाल, कुलदीप जुनेजा और विकास उपाध्याय, सांसद सुनील सोनी, महापौर एजाज ढेबर सहित अनेक जनप्रतिनिधि, सेना, प्रशासन, पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों और नागरिकों ने शहीद कुंजाम के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। इसके पश्चात शहीद कुंजाम का पार्थिव शरीर उनके गृह ग्राम के लिए रवाना किया गया।

Tags
Back to top button