घायलों से मिले सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह, इन्क्वायरी के दिए ऑर्डर

इस घटना पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शोक व्यक्त किया

नई दिल्ली :

अमृतसर में शुक्रवार को दशहरा मेले के दौरान हुए ट्रेन हादसे ने पूरे देश-प्रदेश को झकझोर कर रख दिया है। इस ट्रेन हादसे में न जाने कितने घरों के सदस्यों के मौत हुए है । पूरे राजी में मातम पसरा हुआ है। लोकल ट्रेन से हुए इस हादसे में अब तक करीब 61 लोगों की मौत हो गई है। जबकि, 72 से ज्यादा घायल बताए जा रहे हैं। इस घटना पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शोक व्यक्त किया है।

केन्द्र सरकार की तरफ से 2 लाख और राज्य सरकार की तरफ से पांच लाख रूपये मृतकों के परिजनों को देने का ऐलान किया गया है।

चार हफ्ते में घटना के सभी कारणों का पता लगाया जाएगा- अमरिंदर सिंह

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने अमृतसर रेल हादसे को लेकर कहा कि चार हफ्ते में घटना के सभी कारणों का पता लगाया जाएगा। इसकी जांच रिपोर्ट सामने आ जाएगी। उन्होंने कहा कि पुलिस कमिश्नर के नेतृत्व में मजिस्टीरियल इन्क्वायरी के ऑर्डर दिए है जो चार हफ्ते में अपनी रिपोर्ट दे देंगे।

घायलों से सिविल अस्पताल में मिले सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह
मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अमृतसर ट्रेन हादसे में घायल हुए लोगों से सिविल अस्पताल में जाकर मुलाकात की और उनका हालचाल जाना। उन्होंने कहा कि पीड़ितों के परिवार के साथ मेरी सहानुभूति है।

37 ट्रेनें निरस्त, 16 का बदला रास्ता

पंजाब के अमृतसर में हुये रेल हादसे के आलोक में रेलवे ने शनिवार को वहां से गुजरने वाली 37 रेलगाडि़यों को निरस्त कर दिया है जबकि 16 अन्य का मार्ग परिवर्तित कर दिया है । इसके साथ ही जालंधर अमृतसर रेलमार्ग पर आवाजाही रोक दी गई है ।

उत्तर रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने बताया कि 10 मेल/एक्सप्रेस और 27 पैसेंजर रेलगाडि़यों को निरस्त कर दिया गया है । इसके अलावा 16 अन्य गाडियों को दूसरे मार्ग से उनके गंतव्य तक पहुंचाने की व्यवस्था की गई है जबकि 18 ट्रेनों को बीच में ही रोक कर उनकी यात्रा समाप्त कर दी गयी ।

शुक्रवार को देर शाम हुये इस हादसे में अब तक 61 लोगों की मौत हो चुकी है और 72 से अधिक लोग घायल हुये हैं। ये लोग दशहरा के पर्व पर वहां खाली जगह पर आयोजित रावण दहन कार्यक्रम को देखने एकत्र हुये थे।

रेल राज्यमंत्री बोले- अमृतसर ट्रेन हादसे पर राजनीतिक करना ठीक नहीं

अमृतसर ट्रेन हादसे पर रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि रेलवे प्रशासन सभी तरह की मदद कर रहा है। उन्होंने कहा कि यह राजनीति करने का मौका नहीं है। घायलों को इलाज की प्राथमिकता दी जानी चाहिए। मनोज सिन्हा ने कहा कि इस कार्यक्रम की पूर्व सूचना रेलवे को नहीं दी गई थी।

सीपीआरओ नॉर्दर्न रेलवे ने कहा- लोकल ड्राईवर की नही है कोई गलती

सीपीआरओ नॉर्दर्न रेलवे ने कहा कि शुक्रवार को हुए रेल हादसे में 58 लोगों की मौत हुई है जबकि 48 घायल हुए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं लगता है कि लोकल ड्राईवर की इस घटना में कोई गलती है। घटना से ठीक दो मिनट पहले ही उसी रास्ते से अमृतसर-हावड़ा मेल गुजरी थी।

Back to top button