छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री ने स्वच्छता दूत कुंवर बाई के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया

प्रधानमंत्री ने दो वर्ष पहले कुंवर बाई का चरण स्पर्श कर किया था सम्मान

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य की प्रसिद्ध स्वच्छता दूत कुंवर बाई के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। लगभग 106 वर्षीय कुंवर बाई का आज सवेरे राजधानी रायपुर स्थित जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज से सम्बद्ध अम्बेडकर अस्पताल में निधन हो गया। मुख्यमंत्री ने उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की है और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है। डॉ. सिंह ने शोक संदेश में कहा कि कुंवर बाई ने बकरियां बेचकर प्राप्त आमदनी से घर में शौचालय बनवाकर स्वच्छता के प्रति लोगों में जागरूकता के लिए एक अनोखा उदाहरण पेश किया था।

उल्लेखनीय है कि कुंवर बाई धमतरी जिले के ग्राम कोटाभर्री (ग्राम पंचायत-बरारी) की रहने वाली थीं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन से प्रभावित होकर अपने गांव में स्वच्छता के लिए जनजागरण में महत्वपूर्ण योगदान दिया। कुंवर बाई ने बकरियां बेचकर हुई आमदनी से अपने घर में शौचालय का निर्माण किया। इसके साथ ही उन्होंने गांव वालों को भी घरों में शौचालय निर्माण के लिए प्रोत्साहित किया। उनके गांव के सभी 18 घरों में शौचालय बन चुके हैं और यह गांव खुले में शौचमुक्त (ओडीएफ) भी घोषित हो गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 फरवरी 2016 को छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान ग्राम कुर्रूभाठ (तहसील-डोंगरगढ़) में आयोजित विशाल जनसभा में कुंवर बाई के चरण स्पर्श कर उनके प्रति सम्मान प्रकट किया था।

यह विशेष रूप से उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मोदी ने उनका उल्लेख करते हुए कहा था – ‘‘आज मुझे यहां 104 वर्ष की मां कुंवर बाई का आशीर्वाद पाने का सौभाग्य मिला, जो लोग अपने आप को नवजवान मानते हैं, वे तय करें कि उनकी सोच भी जवान है क्या ?’’ मोदी ने कहा था – ‘‘एक सौ चार वर्ष की मां कुंवर बाई न टी.व्ही देखती हैं और न ही पढ़ी-लिखी हैं, लेकिन उन्हें पता चला की देश के प्रधानमंत्री लोगों को घरों में शौचालय बनवाने के लिए कहते हैं। उन्होंने बकरी पालन की राशि से अपने घर में शौचालय बनवाया और गांव वालों को भी शौचालय बनाने के लिए प्रेरित किया। मोदी ने कहा कि कुंवर बाई जैसी वयोवृद्ध महिला का यह विचार पूरे देश में तेजी से आ रहे बदलाव का प्रतीक है। मैं उन्हें प्रणाम करता हूं।‘‘

ज्ञातव्य है कि दो दिन पहले मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह जब दिल्ली प्रवास पर थे, उस समय कुंवर बाई इलाज के लिए धमतरी के शासकीय जिला अस्पताल में दाखिल थीं। मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली वीडियो कालिंग के जरिये उनकी बेटी सुशीला से बातचीत की थी और कुंवर बाई के बेहतर इलाज के लिए हर संभव सहयोग का भरोसा दिया था। मुख्यमंत्री के निर्देश कुंवर बाई को और भी अधिक अच्छे इलाज के लिए कल धमतरी से यहां लाकर अम्बेडकर अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। डॉक्टरों के अथक प्रयासों के बावजूद उन्हें नहीं बचाया जा सका।

Summary
Review Date
Reviewed Item
मुख्यमंत्री ने स्वच्छता दूत कुंवर बाई के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.