बिलासपुर में सीएम ने कहीं तीन बड़ी बातें, क्या बोल गए मुख्यमंत्री

अंकित मिंज

बिलासपुर।

छत्तीसगढ़ में जेम ई-पोर्टल की जगह छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम से शासकीय विभागों में सामग्री खरीदी की जायेगी। इसके लिए अगली कैबिनेट में प्रस्ताव लाया जायेगा। उन्होंने कहा कि कोयला और लोहा के अतिरिक्त कृषि व सब्जी आधारित तथा प्रदूषण रहित उद्योगों को प्राथमिकता देंगे। काम गुणवत्ता हो और कमीशन खोरी के उद्देश्य से नहीं होना चाहिए।

ये बातें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार को बिलासपुर में राष्ट्रीय उद्योग एवं व्यापार मेले के उद्घाटन अवसर पर कही। व्यापार विहार स्थित त्रिवेणी सभागार में आयोजित पांच दिवसीय भव्य मेला में पहुंचे बघेल ने कहा कि जेम (गवर्मेंट ई-पोर्टल) के माध्यम से भंडार क्रय करने से न केवल राज्य के औद्योगिक और व्यापारिक हितों और रोजगार को नुकसान हो रहा है।

इसलिये पूर्ववत सीएसआईडीसी के माध्यम से खरीदी करने का फैसला लिया जायेगा। उन्होंने उद्योगपतियों से कहा कि वे यह सुनिश्चित करें कि वे उच्च गुणवत्तायुक्त सामग्री उत्पाति करें और हम उसका उपयोग करके गर्व करें कि यह हमारे प्रदेश के उद्योगों से निर्मित है। मुख्यमंत्री ने कहा बघेल कि नई उद्योग नीति 2019 के लिए उद्योगपति अपने सुझाव दें।

उनके सुझाव के अनुसार ही नई नीति बनाई जायेगी। उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों की उद्योग नीति में जो अच्छी बातें हैं उन्हें प्रदेश की उद्योग नीति में शामिल किया जायेगा। उन्होंने कहा कि कोयला और लोहा के अतिरिक्त कृषि व सब्जी आधारित तथा प्रदूषण रहित उद्योगों को प्राथमिकता देंगे।

सरकार की मंशा है कि स्थानीय उद्योगों के साथ ही बाहर से आने वाले उद्योगपतियों को भी राज्य की नीति से प्रोत्साहन मिले, जिससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। कार्यक्रम में राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री जय सिंह अग्रवाल, विधायक डॉ. विनय जायसवाल,बिलासपुर विधायक शैलेष पांडेय, तखतपुर विधायक डॉ. रश्मि सिंह ठाकुर, उद्योग विभाग के अनेक वरिष्ठ अधिकारी और उद्योग संघ के पदाधिकारी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

कवासी ने कहा नौजवानों को मिलेगा रोजगार

कार्यक्रम में उपस्थित उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि नौजवानों को रोजगार की जरूरत है। सरकार उन्हें छोटे-छोटे उद्योग स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करेगी और जो भी सुविधाएं और मांग उनकी ओर से आएगी उनको पूरा करने का प्रयास किया जायेगा।

मुख्यमंत्री भूपेश ने ली चुटकी

मुख्यमंत्री ने कहा सभी उद्योगपतियों ने कांग्रेस को वोट दिए केवल हरीश केडिया भाजपा को वोट दिए हैं। इतना बोलने के बाद मुख्यमंत्री केडिया के तरफ देखते हुए कहा सही कहा न केडिया जी तब बैठे लोग तालियां पीटने लगे।

तीन बार सीएम ने हरीश को टोका

व्यापार मेला में मुख्यमंत्री काफी देर से पहुंचे। बघेल ने हरीश केडिया भाषण संक्षिप्त देने के लिए कहा। लेकिन वे नहीं माने तीन बार मुख्यमंत्री को टोकना पड़ा। वे बार बार इशारा कर रहे थे अतिथियों को माइक दे और सभा की समाप्ति किया जाए।

मेले का आयोजन शहर के लिए गौरव-शैलेश

विधायक शैलेष पांडेय ने इस अवसर पर कहा कि मेले का आयोजन शहर के लिए गौरव की बात है और इससे छोटे लघु उद्यमियों को लाभ मिलता है। आयोजकों की ओर से स्वागत भाषण देते हुए छत्तीसगढ़ लघु एवं सहायक उद्योग संघ के अध्यक्ष हरीश केडिया ने छत्तीसगढ़ के लघु उद्यमियों को किस प्रकार प्रोत्साहित किया जा सकता है, इस पर सुझाव दिये और उद्यमियों की समस्याओं की ओर ध्यान आकृष्ट कराया।

मुख्यमंत्री ने पेठे का स्वाद चखा

मेले में सीएम को जानकारी दी गई कि बिलासपुर के लघु उद्यमी सुनील जगवानी द्वारा उत्कृष्ट क्वालिटी का पेठा बनाया जाता है। पेठे के लिए प्रसिद्ध आगरा में भी इसकी अच्छी मांग है और इसकी आपूर्ति यहां से की जा रही है। विगत दो वर्षों से वे पेठा बना रहे हैं। बिलासपुर में रखिया का पैदावार बहुतायत से होता है, इसलिये उन्होंने पेठा बनाने का उद्योग प्रारंभ किया है। मुख्यमंत्री बघेल ने उनके पेठे का स्वाद लिया और इसकी तारीफ की। उन्होंने कहा कि अन्य उद्यमियों को भी इससे प्रोत्साहन मिलेगा।

कथनी-करनी में फर्क

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सीबीआई के छत्तीसगढ़ में रोक लगाने संबंधी सवाल पर कहा भारतीय जनता पार्टी के तत्कालीन मुख्यमंत्री रमन सिंह की कथनी और करनी में अंतर है। सीबीआई मामले पर खुद डॉ.रमन सिंह ने पत्र लिखा था।

छग के गजट 2012 के नोटिफिकेशन उन्होंने इसे नोटिफाई भी किया था कि हम यहां से सीबीआई नहीं चाहते। उसी बात को हमने लिखा तो वे पलट गए। शायद उनकी स्मृति कम होती जा रही है। उन्होंंने कहा कि रमन सरकार के कार्यकाल में प्रमुख पदों पर की गयी संविदा नियुक्तियों को निरस्त कर युवाओं को रोजगार देने की बात भी कही।

1
Back to top button