लड़कों को कहा है कि स्कूली बच्चों की तरह रनआउट नहीं होना: शास्त्री

लड़कों को कहा है कि स्कूली बच्चों की तरह रनआउट नहीं होना: शास्त्री

जोहानसबर्गः भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने अपने खिलाड़ियों को स्पष्ट तौर पर कह दिया है कि उन्हें टेस्ट मैच में स्कूली बच्चों की तरह रनआउट नहीं होना है और कैच नहीं टपकाने हैं। शास्त्री ने बुधवार से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शुरू होने वाले तीसरे और अंतिम टेस्ट से पूर्व आज संवाददाता सम्मेलन में इस बात पर काफी अफसोस जताया कि सेंचुरियन के दूसरे टेस्ट में भारतीय बल्लेबाज रनआउट हुए और उन्होंने कैच छोड़े।

इससे बढ़ती हैं मुश्किलें : कोच ने सेंचुरियन टेस्ट में चेतेश्वर पुजारा के दो बार रनआउट होने और हार्दिक पांड्या के भी लापरवाही से रनआउट होने के बारे में पूछे जाने पर कहा कि बड़ा दुख लगता है और बड़ा बुरा भी लगता है। एक तो यहां परिस्थितियां बहुत मुश्किल हैं और दूसरे यदि आप इस तरह अपना विकेट गंवा देते हैं तो टीम की मुश्किलें बढ़ जाती हैं। मैं उम्मीद करता हूं कि खिलाड़ी तीसरे टेस्ट में इस तरह की गलतियों को नहीं दोहराएंगे।

गलती बर्दाश्त नहीं होगी : शास्त्री ने साथ ही कहा कि लड़कों को कह दिया गया है कि इस तरह की गलती बर्दाश्त नहीं होगी। दोनों टीमों के बीच ज्यादा बड़ा फासला नहीं है और ऐसी गलतियों ने हमें ज्यादा चोट पहुंचाई है। मुझे उम्मीद है कि कोई खिलाड़ी इस तरह की स्कूली बच्चों जैसी गलतियां नहीं करेगा।

1
Back to top button