राजनीति

प्रकाश जावड़ेकर का बड़ा बयान, कोचिंग सेंटर छात्रों से गुलामों जैसा बर्ताव कर रहे हैं

पुणे: मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कोचिंग सेंटरों की आलोचना करते हुए सोमवार को कहा कि देशभर में चल रहे कोचिंग सेंटर आईआईटी और उसके जैसे संस्थानों में दाखिला दिलाने के नाम पर छात्रों से गुलामों जैसा व्‍यवहार करते हैं.

पुणे स्थित कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग द्वारा आयोजित स्‍मार्ट इंडिया हैकेथॉन 2018 के दूसरे संस्‍करण के उद्घाटन अवसर पर बोलते हुए जावड़ेकर ने कहा कि स्कूलों और कॉलेजों में शिक्षण मानकों में गिरावट की जिम्‍मेदार कोचिंग केंद्रों पर बढ़ती निर्भरता भी हैं.

मंत्री ने कहा कि यह चिंता का विषय है… कक्षा आठवीं के छात्र इन कोचिंग संस्थानों के गुलाम बनते जा रहे हैं. उन्हें केवल प्रतियोगी परीक्षाओं का सामना करने के हिसाब से पढ़ाया जा रहा है. कोचिंग इंस्टीट्यूट इन्‍हें केवल रट्टा मारना सीख रहे हैं और छात्रों को वास्तविक ज्ञान नहीं दिया जा रहा है.

उन्‍होंने कहा कि पढ़ाई सिर्फ किताबों तक सीमित रह गई है. अब ऐसे बहुत ही कम शिक्षक हैं, जिन्हें सवाल पूछा जाना अच्छा लगता है, इसलिए ही कोचिंग सेंटर पहले से ज्यादा मजबूत हो रहे हैं.

Summary
Review Date
Reviewed Item
प्रकाश जावड़ेकर
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *