बिज़नेस

मेंगो ड्रिंक और लो शुगर ड्रिंक पर जोर देगी Coca Cola

चेन्नई: शीतल पेय कंपनी कोका कोला देश में अपने उत्पाद पोर्टफोलियो के विविधीकरण के तहत प्रत्येक राज्य के लिए उसकी पहचान के तौर पर फलों का विशेष जूस उतारेगी। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने आज यह जानकारी दी।

कंपनी अभी वैश्विक ब्रांडों मसलन कोक, स्प्राइट आफ फैंटा की बिक्री कर रही है। इसके अलावा वह थम्स-अप भी बेच रही है जिसका उसने घरेलू बाजार में अधिग्रहण किया है। कोका कोला कंपनी के भारत और दक्षिण पश्चिम एशिया के अध्यक्ष टी कृष्णकुमार ने कहा कि फ्रूट बेवरेज खंड में हम कई संस्करण उतारने जा रहे हैं।

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘हम कई स्थानीय उत्पाद पेश करने जा रहे हैं। जैसे आम के रूप में माजा है। साल के दौरान हम प्रत्येक राज्य में माजा पेश करेंगे।

राज्यों के हिसाब से पेय उतारेंगे : हम प्रत्येक राज्य के हिसाब से उत्पाद उतारेंगे। गुजरात में हमने केसर आम किस्म उतारी है। तमिलनाडू में नीलम (किस्म) पेश की गई है। हम प्रत्येक राज्य के स्वाद के हिसाब से उत्पाद उतारेंगे।

उन्होंने कहा कि हम राज्य के हिसाब से मैंगो ड्रिंक इसलिए पेश करना चाहते हैं ताकि उस राज्य के लोग खुद को उससे जोड़ सकें। उन्होंने कहा कि कंपनी माजा को एक ब्रांड के रूप में विकसित करने पर जोर दे रही है। देश का फलों के रस का बाजार तेजी से बढ़ रहा है।

चीनी का स्तर रहेगा कम : कृष्णकुमार ने कहा कि जिस समय हम इस बाजार में उतरे थे तो तीन बड़ी कंपनियां ही इस क्षेत्र में थीं। अब 30 से 40 खिलाड़ी मैंगो बेवरेज खंड में हैं। अपने उत्पादों में चीनी की मात्रा कम करने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि कंपनी मौजूदा स्तर से कम चीनी का इस्तेमाल करेगी।

उन्होंने कहा कि आगे हम जो भी उत्पाद उतारेंगे उनमें चीनी का स्तर कम होगा। जहां तक मूल पोर्टफोलियो का सवाल है, कृष्णकुमार ने कहा कि कंपनी दो संस्करण उतारेगी लाइट और डाइट। लाइट में चीनी में उल्लेखनीय कमी की जाएगी।

डाइट पूरी तरह शुगर फ्री होगा। डेयरी कारोबार के बारे में उन्होंने कहा कि कंपनी साल की दूसरी छमाही में मूल्यवर्धित उत्पाद उतारेगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.