राष्ट्रीय

राजधानी दिल्ली में सुबह से ही कड़ाके की ठंड, न्यूनतम तापमान 7 डिग्री दर्ज

उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में कड़ाके की सर्दी पड़ रही

नई दिल्ली: दिल्ली-एनसीआर में कड़ाके की ठंड ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है. दिल्ली में बुधवार को न्यूनतम तापमान 7 डिग्री दर्ज किया गया. पहाड़ों से आ रही बर्फीली हवाओं के असर से उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में कड़ाके की सर्दी पड़ रही है.

वहीं बीती रात की बात करें तो न्यूनतम तापमान 5.6 डिग्री सेल्सियस रहा. आज सुबह साढ़े पांच बजे सफदरजंग का न्यूनतम तापमान 7.4 दर्ज किया गया, वहीं पालम का न्यूनतम तापमान 7 डिग्री रहा.

विजिबिलिटी की बात करें तो सफदरजंग में विजिबिलिटी 600 मीटर रही. वहीं पालम में यह 500 मीटर तक रही. वहीं दूसरी तरफ वायु की गुणवत्ता के मामले में राजधानी दिल्ली की स्थिति कुछ ज्यादा अच्छी नहीं रही. पूरी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता का कुल स्तर बहुत खराब की श्रेणी में रहा.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में मंगलवार (24 दिसंबर) को कड़ाके की ठंड से स्थिति बेहाल रही. सुबह 5.5 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज होने के साथ चारों ओर घना कोहरा छाया रहा. मौसम विभाग ने इसकी जानकारी दी.

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि दिन में ठंड बनी रहेगी और हालात और भी अधिक बिगड़ेंगे क्योंकि क्रिसमस पर और अधिक ठंड पड़ने की आशंका है. मौसम विभाग ने कहा, “अधिकतम तापमान के 14 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है.” सिर्फ दिल्ली ही नहीं बल्कि पड़ोस में स्थित नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और गुरुग्राम भी अत्यधिक ठंड की चपेट में है.

पंजाब, हरियाणा में घना कोहरा, पारा लुढ़का

पंजाब और हरियाणा के कई हिस्सों में मंगलवार को घने कोहरे के साथ कड़ाके की ठंड जारी है. मौसम विभाग के अधिकारियों ने यह जानकारी दी. कम दृश्यता के कारण सड़क और रेल यातायात प्रभावित हुआ है, जो कुछ स्थानों पर 100 मीटर से भी कम हो गया है. पुलिस ने कहा कि राजमार्गो पर गाड़ियां धीमी रफ्तार से चल रही हैं.

राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 1 (एनएच-1) का अमृतसर-अंबाला-दिल्ली खंड कई स्थानों पर घने कोहरे के कारण सबसे अधिक प्रभावित हुआ है. सामान्य से नौ से 11 डिग्री नीचे अधिकतम तापमान वाले क्षेत्र में कोहरा जारी है. चंडीगढ़ में मंगलवार सुबह न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री कम नौ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

हिमाचल प्रदेश के शिमला के मुकाबले हरियाणा में नारनौल उत्तर भारतीय मैदानी इलाकों में सबसे ठंडा रहा. यहां सुबह में न्यूनतम तापमान 1.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ, जबकि शिमला में 2.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. पंजाब में अमृतसर पांच डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ सबसे ज्यादा ठंडा रहा.

चंडीगढ़ आने वाली ट्रेनें कई घंटों की देरी से आईं और रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को ठंड के बीच इंतजार करना पड़ा. घने कोहरे के कारण मोटर चालकों को वाहन चलाने में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है. खराब मौसम और कोहरे के कारण पंजाब में शिक्षा विभाग ने राज्य के सरकारी सहायता प्राप्त और निजी स्कूलों का समय बदल दिया है.

परिवर्तित समय 24 दिसंबर से लागू होगा और 15 जनवरी तक लागू रहेगा. एक अधिकारी ने कहा कि प्राथमिक स्कूलों का समय सुबह 10 बजे से अपराह्न् तीन बजे तक होगा और मिडल हाई और सीनियर सेकेंडरी स्कूल सुबह 10 बजे से शाम चार बजे तक संचालित होंगे.

Tags
Back to top button