ठंड इतनी अधिक कि मैनपाट और शिमला को याद कर रहे लोग

अंकित मिंज

बिलासपुर।

हिमालय की तराई से चलने वाली बर्फीली हवा ने बिलासपुर के साथ पूरे सरगुजा संभाग को अपनी चपेट में ले लिया है। इसका असर ये हुआ कि शनिवार को दिन भर चमकीली धूप खिली रहने के बाद भी तेज हवा किसी नश्तर की तरह चुभने लगी। शाम होते-होते शहर के अधिकांश चौक-चौराहे सुनसान होने लगे। हालांकि वीकेंड होने के कारण लोग परिवार सहित छुट्टिटों का आनंद लेने से नहीं चूके, जिनके पास चार पहिया वाहन थे, शीशे चढ़ाकर माल, बिग बाजार और शनिचरी चौपाटी समेत अन्य ठिकानों की ओर निकल गए। दो पहिया वाहनों में चलने वाले लोगों ने भी शीतबलहर की परवाह किए बगैर जेकेट, मफलर लगाकर वीकेंड मनाने निकल गए।

बदली टाइमिंंग, बच्चों को मिलेगी ठंड से राहत: संभाग में चल रहे शीतलहर को ध्यान में रखते हुए जिला शिक्षा अधिकारी ने जिले के सभी स्कूलों के समय में परिवर्तन किया है। 22 दिसंबर को नोटिस जारी कर स्कूल के समय में परिवर्तन के आदेश जारी किए गए हैं।

अब सुबह 7 बजे से लगने वाली कक्षाएं 8 बजे से लगेगी। ठंड से सिकुड़ते बच्चों को राहत मिलेगी। स्कूल जाने के लिए अब 6ः30 बजे की बजाय 7ः30 में निकलना होगा। हालांकि सरकारी समेत सभी प्राइवेट स्कूल अभी विंटर वेकेशन के कारण शनिवार से बंंद कर दिए गए हैं। सरकारी स्कूल अगले शुक्रवार से खुलेंगे तो प्राइवेट स्कूलों में 1 जनवरी 2019 तक अवकाश घोषित किया गया है। इससे बच्चों को थोड़ी राहत है।

पारा गिरने का सिलसिला जारी, 9 डिग्री तक गिरा: अंबिकापुर, पेंड्रा और बिलासपुर संभाग में पिछले दिनों से कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। बिलासपुर में पारा 9 डिग्री तक लुढ़क गया है तो अंबिकापुर, पेंड्रा, मरवाही, मैनपाट के इलाके में पारा 6 डिग्री तक पहुंच गया है। इसके 4 डिग्री तक जाने की सूचना जारी की गई है। बुधवार से पारा गिरने का सिलसिला लगातार जारी है, इस दिन पारा 8.4 डिग्री तक गिरा तो गुरुवार को लुढ़क कर 7.8 तक पहुंच गया। सोमवार तक इसके नीचे 6 डिग्री तक आने की संभावना जताई गई है। पेंड्रा में तो कड़ाके की शीत लहर कई दिनों से चल रही है। गुरुवार रात तक पारा के 6 डिग्री से नीचे जाने की संभावना है, जिसके 4 डिग्री तक जाने की संभावना है।

हिमालय की बर्फीली हवा का असर

हिमालय से चल रही बर्फीली हवा के असर से मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ है। चार दिनों पूर्व हवा की दिशा नार्थ से चल रही थी, इस हवा में शुष्कता थी। इस वजह से मौसम में गर्मी थी। अब हवा की दिशा नार्थ और नार्थ-ईस्ट की ओर मुड़ गई है। हवा अब हिमालय की बर्फीली सरहदों से आ रही है।

इस हवा में नमी काफी ज्यादा है। इसकी दिशा नार्थ वेस्ट होने के कारण रायपुर एवं उसके आसपास के इलाके में शीतलहर की स्थिति नहीं है। लेकिन बुधवार से हवा नार्थ-इस्ट से चल रही है। इससे बिलासपुर, अंबिकापुर, पेंड्रा, मरवाही और सरगुजा में ठंड अधिक है। शीतलहर की स्थिति है।

24 से सुधार की संभावना: शनिवार को अधिकतम पारा 24 तो न्यूनतम 9 डिग्री रहा। रविवार को अधिकतम 24 तो न्यूनतम डिग्री, रविवार को भी अधिकतम 24 और न्यूनतम 9 डिग्री रहेगा। सोमवार से पारा 1 डिग्री प्रतिदिन चढ़कर 10, मंगलवार को 11 और इसके बाद 13 डिग्री तक जाएगा। उतार-चढ़ाव जारी रहेगा।

सप्ताह के अंत में 13 डिग्री जाएगा पारा: सोमवार से पारा 1 डिग्री चढ़ेगा। सोमवार को 10 तो मंगलवार को 11 और 12 से सप्ताह के अंत में 13 डिग्री जाएगा। शीतलहर हिमालय की तराई से चलने वाली बर्फीली हवा के कारण बिलासपुर और सरगुजा संभाग में है। अगले सप्ताह से पारा के गिरने का सिलसिला थमेगा।
एम के साहू, मौसम वैज्ञानिक, रायपुर

new jindal advt tree advt
Back to top button