उत्तर भारत में शीतलहर का प्रकोप, कांप रहा पूरा संभाग, जम्मू में तोड़ा रिकॉर्ड

अधिकतम तापमान 22 डिग्री और न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस के आसपास

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के पूरे संभाग को ठंड ने अपने चपेट में ले लिया है. ठंड के ठिठुरन में लोग आग जलाकर अपना मन शांत कर ठंडी भागा रहे है. जम्मू कश्मीर में पारा रिकॉर्ड तोड़ रहा है तो उसका देश के अन्य इलाकों में भी देखने को मिल रहा है.

राजधानी दिल्ली में सोमवार की सुबह बेहद सर्द रही और न्यूनतम तापमान इस मौसम के सामान्य तापमान से तीन डिग्री कम, 3.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.
मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि आर्द्रता का स्तर 100 फीसदी दर्ज किया गया.

मौसम विज्ञानी ने दिन में आसमान साफ रहने और मंगलवार की सुबह हल्का कोहरा छाये रहने का अनुमान जाहिर किया है. अधिकारी ने बताया ”अधिकतम तापमान 22 डिग्री और न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है.”

वहीं घाटी के लद्दाख क्षेत्र में एक दिन की राहत के बाद, सोमवार को शीतलहर का रौद्र रूप देखने को मिला. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 6.6 डिग्री सेल्सियस नीचे, जबकि पहलगाम में शून्य से 5.5 डिग्री नीचे और गुलमर्ग में शून्य से 5 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया.

कश्मीर घाटी इन दिनों 40 दिनों की भीषण सर्दी के दौर से गुजर रही है, जिसे ‘चिल्लई कलां’ के नाम से जाना जाता है. यह हर साल 21 दिसंबर से शुरू होती है और 30 जनवरी को समाप्त होती है.

लेह का न्यूनतम तापमान शून्य से 14 डिग्री सेल्सियस नीचे और कारगिल का शून्य से 17.2 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा. जम्मू में रात का न्यूनतम तापमान 5.2 डिग्री, कटरा का 6 डिग्री, बटोट का 1.5 डिग्री, बनिहाल का शून्य से 1.5 डिग्री नीचे और भदरवाह का शून्य से 0.2 डिग्री कम दर्ज किया गया.

new jindal advt tree advt
Back to top button