छत्तीसगढ़

सूखा राहत की राशि शेष किसानों के खाते में शीघ्र जमा कराएं- कलेक्टर

समीक्षा बैठक में राजस्व एवं बैंक अधिकारियों को दिए निर्देश

राजनांदगांव : कलेक्टर भीम सिंह ने त्रुटिपूर्ण खातों के कारण सूखा राहत की राशि जमा कराने के लिए शेष रह गये सभी किसानों के खाते में शीघ्र राशि जमा कराने के निर्देश जिले के राजस्व एवं बैंक अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने अधिकारियों को राजस्व अधिकारियों से समन्वय बनाकर इस कार्य को शीघ्रातिशीघ्र पूरा कराने को कहा है। सिंह सोमवार 2 मार्च को कलेटोरेट सभाकक्ष आयोजित समीक्षा बैठक में राजस्व एवं बैंक अधिकारियों को उक्ताशय के निर्देश दिए हैं। इस दौरान उन्होंने विडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से इस कार्य की प्रगति की तहसील एवं बैंकवार समीक्ष की।

बैठक में कलेक्टर ने बताया कि अब बैंकों एवं पोस्ट ऑफिस के माध्यम से भी आधार कार्ड बनाए जायेगें। इसके लिए उन्होंने बैंक अधिकारियों को सभी आवश्यक तैयारियां पूरी करने के निर्देश भी दिए। अपर कलेक्टर जेके धु्रव एवं ओंकार यदु, आयुक्त नगर निगम अश्वनी देवांगन, डिप्टी कलेक्टर मरकाम एवं अधिकारीगण उपस्थित थे। कलेक्टर ने राजस्व अधिकारियों को निर्धारित समयावधि में किसानों के खाते में सूखा राहत की राशि शीघ्र जमा कराने हेतु शेष सभी किसानों के खाते संग्रह करने को भी कहा।

इसके अलावा उन्होंने संबंधित किसानों के खाते नंबर भी अनिवार्य रूप से रखने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर ने तहसील एवं बैंकवार लंबित राशि के संबंध में भी जानकारी ली। सिंह ने राजस्व अधिकारियों को इस कार्य के अंतर्गत पत्रक एक एवं दो की जानकारी भी जिला कार्यालय के राहत शाखा में समय पर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होंने इसकी जानकारी प्रतिदिन देने को कहा। बैठक में कलेक्टर ने बैंकवार आधार सिडिंग के कार्य की प्रगति की भी समीक्षा की। उन्होंने करंट एकाउंट वाले सभी हितग्राहियों का अनुवार्य रूप से भीम एप डाउनलोड कराने के निर्देश दिए हैं। बैठक में एसडीएम राजनांदगांव अतुल विश्वकर्मा, लीड बैंक प्रबंधक जाधव, तहसीलदार प्रतिमा ठाकरे सहित बैंक अधिकारीगण उपस्थित थे।

Summary
Review Date
Reviewed Item
सूखा राहत की राशि शेष किसानों के खाते में शीघ्र जमा कराएं- कलेक्टर
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button