कलेक्टर एवं सीजीएमएससी के प्रबंध संचालक ने किया एमसीएच भवन का निरीक्षण

रोशन सोनी

अम्बिकापुर:

सरगुजा में आज मेडिकल कॉलेज अस्पताल के सामने निर्मित मातृ एवं शिशु अस्पताल भवन का निरीक्षण आज छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेस कार्पोरेशन के प्रबंध निदेशक श्री व्ही.रामा राव एवं कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने किया।

उन्होंने अस्पताल भवन के भूतल से लेकर चतुर्थ तल तक विभिन्न कक्षों का सूक्ष्मता से निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया तथा कमियों को अगले पांच दिन में दुरूस्त कर सभी कक्षों में आवश्यक फर्नीचर सहित साज-सज्जा सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।

छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेस कार्पोरेशन के प्रबंध निदेशक व्ही.रामा राव ने ऑपरेशन थिएटर के निरीक्षण के दौरान वहां उच्च गुणवत्ता के एलईडी बल्ब लगाने तथा ऑपरेशन थिएटर के बरामदे को पार्टीशन करने के निर्देश सीजीएमएससी के सहायक अभियंता को दिये।

उन्होंने उचित मापदण्ड के लेबर रूम निर्माण के लिए सीजीएमएससी के अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्रसव पूर्व कक्ष के पास लेबर रूम तैयार करें तथा वहां आवश्यक प्लेटफार्म सहित सभी सुविधाएं उपलब्ध करायें।

राव ने अस्पताल के सभी कक्षों में मच्छररोधी नेट लगाने तथा वेन्टिलेशन गुणवत्तायुक्त एक्जास्ट पंखे लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने वर्षा जल को संचित करने हेतु रेन वॉटर हार्वेस्टिंग पर जोर देते हुये उचित मानक के रेन वाटर हार्वेस्टिंग का निर्माण कराने कहा।

इसके साथ ही छत में लेबलिंग को लेकर भी सीजीएमएससी के अधिकारियों को उचित स्लोप का निर्माण कराकर टाईल्स लगाने के निर्देश दिये, ताकि छत पर पानी का ठहराव न हो। उन्होंने सीजीएमएससी के अधिकारियों को भवन के अंदरूनी हिस्सो में फिनिसिंग हेतु शेष कार्यो को तेजी से पूर्ण कराने के लिए मजदूरों की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिये।

राव ने अस्पताल के सुचारू संचालन हेतु आवश्यकतानुर अंदरूनी डिजाईन में परिवर्तन के लिये मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के सलाह पर कराने के निर्देश सीजीएमएससी के अधिकारियों को दिये।

कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने निरीक्षण के दौरान आईसीयू में ऑक्सीजन सप्लाई का कार्य अपूर्ण होने पर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुये सीजीएमएससी के अधिकारियों को ऑक्सीजन सप्लाई के अंतिम प्वाइंट से लेकर आईसीयू कक्ष के भीतर ऑक्सीजन सप्लाई करने के निर्देश दिये।

उन्होंने सभी कक्षों में पर्याप्त विद्युत व्यवस्था तथा आवश्यकतानुसार पॉवर प्वाइंट चिन्हांकित कर वहां विद्युत व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।

कलेक्टर ने विभिन्न कक्षों में रखे गये समानों को संबंधित कक्षों में तत्काल शिफ्टिंग के निर्देश दिये तथा इन सामानों के सुरक्षा व्यवस्था के लिये गार्ड की तैनाती के निर्देश भी दिये।

उन्होंने ऑपरेशन थिएटर में लगाये गये एलईडी बल्ब की उंचाई को ऑपरेशन टेबल के अनुसार उपयुक्त उंचाई पर सेट करने के निर्देश दिये। डॉ. मित्तर ने बताया कि राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के संचालक पद पर रहते हुये उनके द्वारा इस एमसीएच बिल्डिंग के निर्माण हेतु निरीक्षण किया गया था।

ज्ञातव्य है कि मेडिकल कॉलेज अस्पताल के सामने गर्भवती, शिशुवती माताओं तथा शिशुओं को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिये राज्य शासन द्वारा करीब 13 करोड़ 70 लाख रूपये की लागत से भूतल सहित पांच मंजिला एमसीएच बिल्डिंग का निर्माण कराया जा रहा है।

एमसीएच बिल्डिंग पूर्ण रूप से तैयार हो चुका है तथा इसका उद्घाटन भी शीघ्र ही कराया जाना है। निरीक्षण के दौरान अनुविभागीय दण्डाधिकारी अम्बिकापुर अजय त्रिपाठी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एन.के. पाण्डेय, डी.पी.एम. डॉ. अनिता पैकरा, अस्पताल प्रबंधक प्रियंका कुरील सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Tags
Back to top button