छत्तीसगढ़

कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने विकासखण्ड वाड्रफनगर के गौठानों का किया निरीक्षण

ज्ञात हो कि आज बलरामपुर जिले कलेक्टर धावड़े के द्वारा गोधन न्याय योजना के क्रियान्वयन की ली जानकारी

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा
संवाददाता : शिव कुमार चौरसिया

बलरामपुर 25 सितम्बर 2020:  कलेक्टर श्याम धावड़े एवं पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू ने विकासखंड वाड्रफनगर के डोंगरो एवं कोटराही स्थित गौठानों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने गौठानों के माध्यम से हो रहे गोबर खरीदी तथा भुगतान के संबंध में जानकारी ली तथा गौठान में संचालित विभिन्न गतिविधियों का अवलोकन किया।

कलेक्टर श्याम धावड़े एवं पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू द्वारा विकासखण्ड वाड्रफनगर के डोंगरो गौठान का निरीक्षण कर गौठान के माध्यम से हो रहे गोबर खरीदी एवं भुगतान के संबंध में गौठान प्रबंधन समिति के सदस्यों से चर्चा की। साथ ही गौठान के वर्मी टैंक में तैयार किये जा रहे खाद की मात्रा तथा पूरी प्रक्रिया की जानकारी ली।

समूह की अध्यक्ष मानकुंवर ने कलेक्टर को बताया

कलेक्टर ने गौठान के फेसिंग, पशुओं के चारे-पानी की व्यवस्था तथा संचालित अन्य गतिविधियों के बारे में भी चर्चा की। इसी क्रम में ग्राम कोटराही स्थित गौठान पहुंचकर गोबर खरीदी एवं बाड़ी विकास के कार्यों से जुड़ी शिव महिला समूह के सदस्यों से बात की। समूह की अध्यक्ष मानकुंवर ने कलेक्टर को बताया कि उनके द्वारा बाड़ी विकास के अंतर्गत हल्दी एवं अदरक लगाया गया है। साथ ही गोबर खरीदी का कार्य भी किया जा रहा है। ज्ञातव्य है कि जिले के कोटराही गौठान में ही सर्वाधिक मात्रा में गोबर की खरीदी की गई है।

कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने गोधन न्याय योजना के अंतर्गत वर्मी टैंकों में तैयार किये जा रहे खाद का अवलोकन कर उसके गुणवत्ता के बारे में जानकारी ली। समूह की महिलाओं ने उन्हें बताया कि पूर्व में तैयार खाद का उपयोग बाड़ी में किया गया है तथा गोधन न्याय योजना के तहत् बन रहे खाद की पहली खेप आने वाले कुछ दिनों में तैयार हो जाएगी, जिसे विभिन्न विभागों को विक्रय किया जावेगा। कलेक्टर  धावड़े ने गौठान में शेड निर्माण के कार्य को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।

इस अवसर पर डिप्टी कलेक्टर प्रवेश पैकरा, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व विशाल कुमार महाराणा, उप संचालक पशुपालन  बी.पी.सतनामी, उप संचालक कृषि अजय अनंत सहित विकासखण्ड स्तरीय अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button