छत्तीसगढ़

कलेक्टर भीम सिंह और पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने जिले के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पहुंचकर किया निरीक्षण

कलेक्टर के प्रयास से खोले गये हीराकुंड जलाशय के गेट

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

  • बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लोगों के लिये भोजन पैकेट तथा पशुओं के लिये चारे की व्यवस्था करने के निर्देश

रायगढ़, 28 अगस्त 2020: कलेक्टर भीम सिंह और पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने आज जिले के महानदी की बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण कर बचाव एवं राहत कार्य के निर्देश दिये। उन्होंने कलमा बैराज पहुंचकर महानदी के बढ़ते जल स्तर की जानकारी ली। कलमा बैराज के प्रभारी जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री ने कलेक्टर सिंह को जानकारी दी कि कल 27 अगस्त की रात 9 बजे से 28 अगस्त को प्रात: 11 बजे तक महानदी के जलस्तर में 2 मीटर की वृद्धि हुई है।

कलेक्टर सिंह ने

नदी का जल स्तर बढऩे से दोनों किनारों के 14-15 गांव प्रभावित हुये है। वर्तमान समय में बरसात रूकने से जलस्तर 199 मीटर पर स्थिर है, जो कि खतरे के निशान से लगभग एक मीटर नीचे है। कार्यपालन यंत्री ने यह भी बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य में बहने वाली नदियों का कुल 80 प्रतिशत पानी कलमा बैराज से होकर निकलता है। बैराज से 6 किलो मीटर के बाद महानदी उड़ीसा राज्य की सीमा में प्रवेश करती है। कलेक्टर सिंह ने कार्यपालन यंत्री को महानदी के जलस्तर की अपडेट जानकारी तत्काल उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

कलेक्टर सिंह ने बताया कि आज प्रात: संबलपुर (उड़ीसा)जिले के कलेक्टर से बात कर हीराकुंड बांध के गेट को खोलने को कहा है जिससे रायगढ़ जिले में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में जलस्तर कम हो सके। संबलपुर जिला प्रशासन द्वारा हीराकुंड बांध के गेट खोल दिये गये है वहां बांध से पानी निकासी के फलस्वरूप रायगढ़ जिले के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में नदी का जल स्तर स्थिर हुआ है।

कलेक्टर  सिंह ने पुसौर तहसीलदार को निर्देशित किया

कलेक्टर सिंह और पुलिस अधीक्षक ने महानदी के बाढ़ प्रभावित ग्राम सूरजगढ़ पहुंचकर वहां के ग्रामवासियों से बात किया और लोगों के घरों में पानी आ जाने के कारण ग्रामवासियों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के निर्देश राजस्व विभाग के अधिकारियों को दिये। कलेक्टर  सिंह ने पुसौर तहसीलदार को निर्देशित किया कि सूरजगढ़ गांव के निवासियों के लिये पर्याप्त वाहन व्यवस्था कर आवश्यक सामानों सहित सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जाये तथा बाढ़ प्रभावित लोगों के लिये भोजन के पैकेट तैयार कर वितरित किया जाये। उन्होंने गांव के पशुओं के लिये आवश्यक चारा तथा पशु आहार की व्यवस्था किये जाने के निर्देश दिये।

कलेक्टर सिंह ने महानदी के जल स्तर बढऩे की लगातार निगरानी करने तथा नदी के किनारे स्थित गांवों का दौरा कर प्रभावित नागरिकों को तत्काल राहत एवं बचाव कार्य के निर्देश दिये। उन्होंने बाढ़ से क्षतिग्रस्त होने वाले मकानों तथा पशुओं और फसल की हानि की जानकारी भी संकलित करने के निर्देश दिये। कलेक्टर सिंह ने ग्राम सूरजगढ़ के सरपंच तथा ग्रामवासियों से कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लोगों को घबराने की आवश्यकता नहीं है प्रशासन की ओर से स्थिति पर लगातार निगरानी रखी जा रही है। बाढ़ से प्रभावित लोगों को हर संभव मदद पहुंचायी जायेगी।

पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने स्थानीय पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया कि बाढ़ प्रभावित गांवों के लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिये आवश्यकता के अनुसार वाहन उपलब्ध कराये तथा प्रभावित क्षेत्रों की सुरक्षा व्यवस्था में तत्परता पूर्वक ड्यूटी निभाये ताकि किसी प्रकार की जनधन हानि न हो। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के निरीक्षण के समय राजस्व, पुलिस तथा जल संसाधन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button