कलेक्टर भीम सिंह ने ओवरआल परफॉर्मेंस एवं एग्रीकल्चर कैटेगरी में ग्रहण किया पुरस्कार

- होटल बेबीलोन में आयोजित कार्यक्रम में दिया गया अवार्ड

राजनांदगांव।

देश की प्रतिष्ठित पत्रिका इंडिया टूडे के कार्यक्रम स्टेट आफ स्टेट अवार्ड में राजनांदगांव जिले को ओवरआल परफार्मेंस एवं एग्रीकल्चर कैटेगरी में पुरस्कृत किया गया। कलेक्टर भीम सिंह ने यह सम्मान मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के हाथों ग्रहण किया।

इंडिया टूडे ने यह अवार्ड 9 विभिन्न क्षेत्रों एवं 1 अवार्ड ओवरआल परफार्मेंस के लिए रखा था। इसमें राजनांदगांव जिले ने दो अवार्ड प्राप्त किए। होटल बेबीलोन में आयोजित इस कार्यक्रम में इंडिया टूडे के प्रबंधन ने विस्तार से अवार्ड की कैटेगरी एवं इसके चुनाव के मानदंड के संबंध में जानकारी दी।

प्रबंधन ने अवार्ड की थीम के संबंध में बताया कि इंडिया टूडे का फोकस इस बात पर था कि किस प्रकार नवाचारों के माध्यम से एवं पुरानी योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन से जमीनी स्थिति तेजी से बदली है। इस दृष्टि से कृषि क्षेत्र में राजनांदगांव में केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार की योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन किया गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री कृषि बीमा योजना आरंभ की ताकि पुरानी बीमा योजना की कमियों को दूर कर किसानों को सूखे जैसी स्थिति से निपटने के लिए अधिक सुरक्षा कवर दिया जा सके। इस दृष्टि से प्रधानमंत्री कृषि बीमा योजना के क्रियान्वयन में राजनांदगांव जिले ने बड़ी उपलब्धि हासिल की। यहाँ खरीफ फसल में एक लाख अठहत्तर हजार लोगों का बीमा कराया गया और लगभग एक लाख इक्यावन हजार लोगों को बीमा का लाभ मिल रहा है।

अब तक जिले में 438 करोड़ रुपए वितरित हो चुके हैं और 27 करोड़ रुपए की राशि आहरित किया जाना प्रक्रियाधीन है।

प्रबंधन ने बताया कि ओवरआल परफार्मेंस के लिए यह देखा गया कि बुनियादी सुविधाओं के विस्तार के लिए जिले में क्या किया जा रहा है। इसके अंतर्गत प्रधानमंत्री महोदय की योजनाओं के क्रियान्वयन में जिला अग्रणी तो रहा हीए यहाँ ऐसे नवाचार भी किए गए, जो देश भर के लिए नजीर बन सकते है। इसमें कुपोषण को दूर करने में जनभागीदारी शामिल है।

राजनांदगांव जिले में कुपोषण की समस्या को दूर करने में जनभागीदारी को शामिल किया गया। यहाँ हर पंचायतों में सरपंच आंगनबाडिय़ों में कुपोषित बच्चों के लिए दूध का इंतजाम कर रहे हैं। जब आप जनभागीदारी को सम्मिलित कर देते हैं तो आपकी शक्ति मजबूत हो जाती है और नतीजे प्राप्त करने की दिशा में कई हाथ जुट जाते हैं।

एक दूसरा अच्छा प्रयोग हेल्थ के क्षेत्र में हमर स्वास्थ्य अभियान के रूप में किया गया। इसके पहले हेल्थ कैंप तो लगते रहते थे लेकिन कैंप के रिकार्ड नहीं रखे जाते थेए मेडिकल हिस्ट्री नहीं रखी जाती थी और ऐसे कैंप सुव्यवस्थित रूप से लगाये भी नहीं जाते थे।

राजनांदगांव जिले में पहली बार हर पंचायत में कैंप का आयोजन किया जा रहा है। लोगों की स्वास्थ्य जाँच की जा रही है और इसे हमर स्वास्थ्य मोबाइल एप में दर्ज किया जा रहा है।

इसके माध्यम से न केवल गंभीर रूप से बीमार लोगों को चिन्हांकित किया जा रहा है और उन्हें ठीक किया जा रहा है अपितु जिले में स्वास्थ्य के क्षेत्र की एक साफ तस्वीर भी नजर आ रही है जिससे ठोस योजनाएँ बनाने में सहायता मिलती है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ के विभिन्न क्षेत्रों में हुए विकास के संबंध में अपनी बात रखी।

new jindal advt tree advt
Back to top button