कलेक्टर ने किया धान खरीदी केन्द्रों का निरीक्षण

अतिरिक्त वाहन लगाकर उठाव में तेजी लाने सख्त निर्देश

आलोक मिश्रा

बलौदा बाजार।

बलौदाबाजार,कलेक्टर जे.पी.पाठक ने आज जिले के तीन धान खरीदी केन्द्रों- लवन, कसडोल और बोरसी का आकस्मिक निरीक्षण किया। उन्होंने खरीदी केन्द्रों से धान के उठाव की धीमी प्रगति पर नाराजगी प्रकट करते हुए और ज्यादा संख्या में वाहन लगाकर उठाव कार्य में तेजी लाने के सख्त निर्देश दिए। समिति प्रबंधकों को भी निर्देशित करते हुए कहा कि परिवहन के लिए फड़ों में ट्रक आने पर प्राथमिकता के साथ इसमें धान की बोरी लोड किया जाए।

वाहनों को समिति स्तर पर खड़े न रखी जाएं। जरूरत के अनुसार अतिरिक्त रूप से हमालों की सेवाएं ली जाएं। उन्होंने डी ओ कटाने के पर्याप्त समय बाद भी उठाव नहीं करने वाले राईस मिलर्स के विरूद्ध कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने समितियों में धान बेचने आए कुछ किसानों से भी बातचीत की और उनका हाल-चाल जाना। समितियों में लगभग आधे किसानों ने अपने धान बेच डाले हैं। धान की आवक अचानक बढ़ गई है। कलेक्टर ने खरीदी से जुड़े तमाम अधिकारियों को इनका निरंतर निरीक्षण और व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर ने आज लवन के खरीदी केन्द्र से निरीक्षण की शुरूआत की। लवन में पंजीकृत 1100 किसानों में से 500 किसानों ने अब तक धान बेचे हैं। धान बेचने आए ग्राम भालूकोना के किसान श्री हेतराम ने बताया कि राज्य सरकार की कर्ज माफी योजना से उसका 27 हजार का ऋण माफ हुआ है।

समिति में अब तक लगभग 7 करोड़ रुपए के करीब 33 हजार 501 क्विंटल धान की खरीदी की जा चुकी है। इनमें से 14 हजार क्विंटल के लगभग धान का उठाव किया जाना है। फिलहाल कोई समस्या नहीं है। धान खरीदी का कार्य सुचारू तरीके से चल रहा है। इसके बाद कसडोल समिति केन्द्र में अब तक मोटा, पतला और सरना धान मिलाकर 30 हजार 932 क्विंटल धान की खरीदी की गई है। इसकी कीमत लगभग 6 करोड़ 34 लाख रूपए है। लगभग 17 हजार क्विंटल धान का उठाव किया जाना है।

बोरसी खरीदी केन्द्र में खरीदे गए 10 हजार क्विंटल में से 6 हजार क्विंटल का उठाव किया जाना बचा हुआ है। कलेक्टर ने दौरे पर साथ चल रहे जिला विपणन अधिकारी को धान परिवहन के लिए वाहनों की संख्या बढ़ाने और नए सिरे से कार्य-योजना बनाकर काम करने के निर्देश दिए। उन्होंने कसडोल क्षेत्र के बोरसी,हटौद, सोनाखान, बया, आदि सोसायटिओं में प्राथमिकता से वाहन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। डीएमओ ने बताया कि कल से 500 वाहन उठाव कार्य में लग जाएगी।

इनमें भाटापारा संग्रहण केन्द्र के लिए 50, हथबंध के लिए 115, कसडोल के लिए 35, जौंदा के लिए 150, बकतरा के लिए 50 तथा तिल्दा के लिए 100 वाहन शामिल हैं। इधर एसडीएम तीर्थराज अग्रवाल ने भी आज अलग से कुछ उपार्जन केन्द्रों का निरीक्षण किया। जिला खाद्य अधिकारी तरूण राठौर, डीएमओ आर.पी.मिश्रा, सहायक पंजीयक गुप्ता, सहकारी बैंक के नोडल अफसर प्रजापति भी कलेक्टर के साथ दौरे में उपस्थित थे।

1
Back to top button