कलेक्टर ने कसडोल तहसील कार्यालय का किया निरीक्षण,प्रकरणों के निराकरण में तेज़ी लाने के निर्देश

ब्लॉक स्तरीय अफसरों की बैठक लेकर की विकास कार्यों की समीक्षा,स्कूल और आंगनबाड़ियों में 30 जुलाई तक मिलेगी रनिंग वाटर सुविधा,20 जुलाई तक चारागाहों में बोआई पूर्ण करने के निर्देश,प्रत्येक ब्लॉक में 5-5 मॉडल गौठान बनाए जाएंगे..

बलौदाबाजार
आलोक मिश्रा ब्यूरोहेड

कसडोल, 6 जून 2021 : कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने आज तहसील कार्यालय कसडोल का निरीक्षण किया। उन्होंने तहसील के तीनों राजस्व न्यायालय और एसडीएम कोर्ट में प्रचलित राजस्व प्रकरणों के निराकरण की प्रगति की समीक्षा की। इसके बाद जनपद पंचायत के सभाकक्ष में ब्लॉक स्तरीय अफ़सरों की बैठक लेकर विकास कार्यों में और तेज़ी लाने के निर्देश दिये। इस अवसर पर जिला पंचायत की सीईओ डॉ फरिहा आलम सिद्दिकी एवं अपर कलेक्टर राजेन्द्र गुप्ता भी उपस्थित थे।

कलेक्टर जैन ने किसानों और ग्रामीणों से जुड़े राजस्व प्रकरणों के निराकरण और विकास कार्यो की गति में तेज़ी लाने के लिए आज कसडोल तहसील और जनपद पंचायत का निरीक्षण किया। उन्होंने तमाम राजस्व प्रकरणों की समय-सीमा में निराकरण करने की हिदायत दी। उन्होंने कहा कि अविवादित किस्म के नामांतरण और बटवारा में निर्णय का अधिकार सम्बन्धित ग्राम पंचायतों को है। लिहाजा यह काम उन्हें करने चाहिए।

उन्होंने अविवादित किस्म के कुछ नामांतरण प्रकरणों के लंबित रखे जाने पर नाराजगी जाहिर की और तत्काल निराकरण के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लोक सेवा गारण्टी के कामों का समय-सीमा में निराकरण किये जायें अन्यथा उन्हें दण्डित किया जाएगा। उन्होंने पुराने प्रकरण, नक्शा अपडेट, डिजिटल साइन आदि की जानकारी भी ली। उन्होंने रेंडमली निकालकर कुछ प्रकरणों को देखा कि विधिवत निपटारा हो रहा अथवा नहीं।

कलेक्टर सुनील जैन ने 

कलेक्टर सुनील जैन ने विकासखण्ड स्तरीय अफसरों की बैठक लेकर योजनाओं में प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने ब्लॉक की सभी आंगनबाड़ी और स्कूलों में इस माह के अंत तक रनिंग वाटर की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। सिंचाई विभाग के अफसरों ने बताया कि अब तक कि बारिश से बलार जलाशय में 51 प्रतिशत जलभराव हो चुका है। लगभग 17 हज़ार एकड़ में इससे सिंचाई होती है। सोनाखान में बन रहा एकलव्य विद्यालय लगभग 95 प्रतिशत पूर्ण हो चुका है। उन्होंने शेष काम को जल्द पूर्ण करने कहा है। उन्होंने महिला एवं बाल विकास के अंतर्गत कार्यरत महिला समूहों को आर्थिक गतिविधियों से जोड़ने के निर्देश दिए। गौठान में आकर उद्यम शुरू करने वाली समूहों को महिला कोष योजना के तहत ऋण देने में प्राथमिकता के निर्देश दिए।

कृषि विभाग के अधिकारियों ने बताया कि कसडोल ब्लॉक में। धान लेने वाले 58 किसानों ने अपनी 25 हेक्टेयर खेतों में बृक्षारोपण करने के लिए आवेदन किये है। इसके अलावा 1260 हेक्टयर में किसानों ने सुगन्धित किस्म की धान लगा रहे हैं। कलेक्टर ने कहा कि हर गौठान का अपना अलग से चारागाह होने चाहिए। यदि नहीं है, तो गौठान के एक हिस्से में चारागाह विकसित करें। उन्होंने 20 जुलाई तक हर हाल में चारागाह की बोआई पूर्ण करने कहा है। कलेक्टर ने कहा कि हर विकासखण्ड में 5-5 गौठान मॉडल के रूप में विकसित किया जावे। कसडोल के खरवे, हसुवा, छरछेद, साबर और अमलीडीह को आदर्श गौठान के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया गया। इस अवसर पर एसडीएम मिथिलेश डोण्डे, तहसीलदार श्यामा पटेल, नायब तहसीलदार श्रीधर पण्डा, तम्बोली सहित ब्लॉक स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button