छत्तीसगढ़

कलेक्टर श्री भीम सिंह ने निरीक्षण कर निर्माण कार्यों का लिया जायजा

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

रायगढ़: तमनार विकासखंड के गोढ़ी में कन्या आश्रम को एक मॉडल आश्रम के रूप में विकसित किया जा रहा है। इसके लिये कलेक्टर श्री भीम सिंह के पहल व मार्गदर्शन में खनिज न्यास निधि व मनरेगा के अंतर्गत 51 लाख 86 हजार रुपये की लागत से उन्नयन कार्य किया जा रहा है। कलेक्टर श्री भीम सिंह ने निरीक्षण कर वहां चल रहे निर्माण कार्यों का जायजा लिया। इस दौरान सीईओ जिला पंचायत सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी भी साथ रही।

कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि बच्चियों के सर्वांगीण विकास के लिए एक उत्कृष्ट वातावरण तैयार करने की दिशा में यह मॉडल आश्रम तैयार किया जा रहा है। इसके लिए बिल्डिंग में सुधार के साथ ही मानसिक व शारीरिक दृष्टिकोण से उनके व्यक्तित्व विकास के लिए सुविधाएं यहां जुटायी जा रही हैं। यहां बच्चों के लिये कम्प्यूटर लैब, लाईब्रेरी, खेल-कूद के लिये व्यवस्थित मैदान के साथ बुनियादी सुविधाओं का स्तर बढ़ाया जा रहा है।

निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री सिंह ने निर्माण कार्यों का बारीकी से मुआयना किया। उन्होंने आदिवासी विकास विभाग के अधिकारियों और ठेकेदार से किये गए कार्यों की विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि सभी कार्यों में लगने वाली सामग्री में गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखें। छत से पानी का सीपेज ना हो। बाथरूम साफ -सुथरे हों, इसके लिए अच्छी टायलिंग करें। ड्रेनेज सही तरीके से बनाये ताकि पानी का जमाव न हो। कमरों में अच्छी रंगाई-पुताई हो, रोशनी की पर्याप्त व्यवस्था हो, बिजली की फिटिंग क्वालिटी भी बढिय़ा होनी चाहिए। वेंटिलेशन की भी अच्छी व्यवस्था हो। आलमारियों में एल्युमीनियम डोर्स लगाएं। खिड़कियों में मच्छर का नेट लगा हो। डाइनिंग स्पेस को बढ़ाएं। कलेक्टर श्री सिंह ने बच्चों के लिए तैयार किये जा रहे लाइब्रेरी और कम्प्यूटर लैब का भी जायजा लिया। लैब में तथा कमरों में फर्नीचर बच्चों की सुविधानुसार रखने के लिए कहा। खेल मैदान में बैडमिंटन के साथ वॉलीबॉल के ग्राउंड बनाने के निर्देश उन्होंने दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने गोढ़ी स्कूल में प्राइमरी स्तर तक के बच्चों के लिये अर्ली गे्रड लेशन के तहत तैयार किये गये बच्चों की लाईबे्ररी का भी निरीक्षण किया। उन्होंने लाईब्रेरी निर्माण कार्य के प्रति संतोष जताते हुये वहां बच्चों की सुविधा के लिये पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था रखने के निर्देश दिये।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button