कलेक्टर राठौर ने दी कोविड केयर हॉस्पिटल, चिकित्सालयों में आवश्यक दवाईयां, उपकरणों सहित मैनपावर बढ़ाने हेतु डीएमएफ से 1 करोड़ 20 लाख रुपये की प्रशासकीय स्वीकृति

मरीजों को शीघ्र एवं बेहतर चिकित्सीय सुविधा प्रदाय कराने में होगी आसानी

कोरिया 05 मई 2021 : कलेक्टर एसएन राठौर द्वारा कोविड केयर हॉस्पिटल, चिकित्सालयों में आवश्यक दवाईयां तथा उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु जिला खनिज न्यास के तहत 1 करोड़ रुपये तथा कोविड केयर हॉस्पिटल एवं केअर सेंटर में मानव संसाधन बढ़ाने अस्थायी कर्मचारियों की संविदा व कलेक्टर दर पर नियुक्ति हेतु भी डीएमएफ के तहत 20 लाख रुपये की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। इससे मरीजों को शीघ्र एवं बेहतर चिकित्सीय सुविधा प्रदाय कराने में आसानी होगी।

कोविड केयर हॉस्पिटल एवं सेंटर 

कलेक्टर राठौर ने बताया कि जिले के प्रभारी मंत्री डॉ शिवकुमार डहरिया से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा कोविड केयर हॉस्पिटल, चिकित्सालयों में आवश्यक दवाईयां, उपकरण आदि क्रय करने हेतु एवं जिले के कोविड केयर हॉस्पिटल एवं सेंटर में अस्थायी कर्मचारियों की संविदा व कलेक्टर दर पर नियुक्ति हेतु प्रस्तुत प्रस्ताव पर चर्चा की गई। इस पर उन्होंने जनसुविधा के मद्देनजर डीएमएफ के तहत उक्त कार्य की अनुमति दी है।

कोविड 19 सहित अन्य चिकित्सा आवश्यकताओं पर मरीजों को समय पर इलाज मिल सके, इस उद्देश्य से खान और खनिज (विकास और विनियमन) अधिनियम, सहपठित छत्तीसगढ़ जिला खनिज संस्थान न्यास नियम 2015 अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2021-22 में 60 प्रतिशत उच्च प्राथमिकता के क्षेत्र “स्वास्थ्य देखभाल” के तहत कलेक्टर राठौर ने प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान करते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बैकुण्ठपुर को क्रियान्वयन एजेन्सी नियुक्त किया है।

इसके साथ ही जिले के कोविड केयर हॉस्पिटल एवं कोविड केअर सेंटर में अस्थायी कर्मचारियों की संविदा व कलेक्टर दर पर नियुक्ति हेतु भी डीएमएफ के तहत 20 लाख रुपये की प्रशासकीय स्वीकृति कलेक्टर द्वारा जारी की गई है जिसमें लैब टैक्निशियन, लैब अटेण्डर, स्टॉफ नर्स, ऑक्सीजन हैण्डलर, इलेक्ट्रीशियन, वाहन चालक, एवं स्वैच्छक आदि पदों पर संविदा व कलेक्टर दर पर कर्मचारियों की नियुक्ति की जायेगी। कलेक्टर राठौर ने कहा कि मानव संसाधन बढ़ने से जिले में नागरिकों को शीघ्र एवं बेहतर चिकित्सीय सेवाएं उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जा सकेगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button